कोलकाता. केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में कथित रूप से जमीन हथियाने के मामले की जांच के सिलसिले में तृणमूल कांग्रेस के निलंबित एवं गिरफ्तार नेता शाहजहां शेख के भाई को बुधवार को समन जारी किया. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि शाहजहां के भाई शेख सिराजुद्दीन फरार है तथा सीबीआई का मानना है कि उसने इस घोटाले में अहम भूमिका निभायी है.

अधिकारी ने कहा, ”हमने शाहजहां के भाई को जमीन हथियाने के मामले में छह मई को कोलकाता में हमारे कार्यालय में हमारे अधिकारियों को पेश होने के लिए समन दिया है. हमारे अधिकारी उसकी तलाश में उसके घर पर गये थे लेकिन वह वहां नहीं था.” उन्होंने अधिकारी ने बताया कि सीबीआई अधिकारियों ने वापस आने से पहले सिराजुद्दीन के घर पर ‘समन’ का नोटिस लगा दिया.
उन्होंने बताया कि सीबीआई अधिकारियों का एक अन्य दल बुधवार को उत्तरी 24 परगना जिले में संदेशखाली के ‘शाहजहां मार्केट’ गया और वहां उसने इस मामले के सिलसिले में दुकानदारों से बातचीत की.

अधिकारी ने कहा, ” ये व्यापारी शाहजहां के करीबी हैं और हो सकता है कि उन्होंने इस घोटाले में भूमिका निभायी हो. हमारे अधिकारियों ने उनसे बातचीत की.” सीबीआई के अधिकारी इस घोटाले की जांच के सिलसिले में तकरीबन रोज संदेशखाली जा रहे हैं.
इस माह के प्रारंभ में कलकत्ता उच्च न्यायालय ने संदेशखाली में महिलाओं के साथ अपराध तथा जबरन जमीन हड़पने के आरोपों की सीबीआई जांच का आदेश दिया था. संदेशखाली में इन मुद्दों पर प्रदर्शन भी हुआ था.

उच्च न्यायालय ने सीबीआई को उपरोक्त आरोपों की जांच कर समग्र रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया था. प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी राशन वितरण घोटाले की जांच के सिलसिले में पांच जनवरी को जब शाहजहां शेख के परिसरों की तलाशी के लिए संदेशखाली गये थे तब भीड़ ने उनपर हमला किया था. शाहजहां शेख को तृणमूल निलंबित कर चुकी है.