अयोध्या. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बुधवार को अयोध्या में राम मंदिर में पूजा-अर्चना की. राष्ट्रपति ने अयोध्या में रामलला के दर्शन किये और सरयू आरती की. इससे पहले उन्होंने सरयू मैया का दुग्धाभिषेक कर पूजन किया. राष्ट्रपति बुधवार शाम करीब चार बजे मर्हिष वाल्मीकि हवाई अड्डे पर पहुंचीं. यहां उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल व योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री/अयोध्या के प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने राष्ट्रपति का भव्य स्वागत किया.

राष्ट्रपति भवन ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ”राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मर्हिष वाल्मीकि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर राष्ट्रपति का स्वागत किया.” राष्ट्रपति मुर्मू ने आज शाम को नवनिर्मित राम मंदिर के गर्भगृह के अंदर पूजा-अर्चना और आरती की. राम मंदिर में दर्शन से पहले उन्होंने सरयू आरती में हिस्सा लिया और यहां हनुमानगढ.ी मंदिर में पूजा की.

राष्ट्रपति भवन के आधिकारिक हैंडल से ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा गया, ”राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने श्री हनुमान गढ.ी मंदिर, अयोध्या में दर्शन किए और पूजा की.” एक बयान के मुताबिक, राष्ट्रपति सीधे हनुमानगढ.ी मंदिर पहुंचीं. वहां महंत प्रेमदास व पुजारी हेमंत दास के सहयोग से उन्होंने संकटमोचन हनुमान मंदिर में पूजा-अर्चना की. वहां से राष्ट्रपति सरयू आरती करने पहुंचीं. राष्ट्रपति ने करीब आधे घंटे तक सरयू का दर्शन पूजन और आरती की.

बयान के मुताबिक, राष्ट्रपति ने भगवान श्रीराम के बाल स्वरूप विग्रह का विधि-विधान से दर्शन पूजन कर राम लला की आरती उतारी. रामलला के दर्शन करने के बाद मुर्मू कुबेर टीला पहुंचीं, जहां उन्होंने कुबेश्वर महादेव का दर्शन-पूजन किया. बाइस जनवरी को हुए राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद यह पहली बार है कि राष्ट्रपति अयोध्या का दौरा कर रही हैं.