चिरमिरी/मुरैना. कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाद्रा ने बृहस्पतिवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा में केवल दो तरह के नेताओं को बढ़ावा दिया जाता है, एक जो भ्रष्ट हैं और दूसरे वे जो लोगों के कल्याण के मुद्दे पर नहीं बोलते. छत्तीसगढ़ के मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले के चिरमिरी शहर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए वाद्रा ने यह बात कही. कोरबा लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी ज्योत्सना महंत के पक्ष में आयोजित इस रैली में वाद्रा ने कहा कि भाजपा की योजना लोगों को पांच किलो राशन देकर उन्हें अपने ऊपर निर्भर बनाना है. उन्होंने लोगों से उनसे रोजगार मांगने के लिए कहा.

वाद्रा ने दावा किया कि केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार में लोगों के अधिकार और देश की संपत्ति बड़े अरबपतियों को सौंपी जा रही है.
उन्होंने कहा, ”लोगों को समझना होगा कि देश में किस तरह की राजनीति चल रही है और किस तरह के नेताओं को बढ़ावा दिया जा रहा है.” उन्होंने कहा, ”भाजपा में दो तरह के नेताओं को बढ़ावा दिया जा रहा है. जो सबसे ज्यादा भ्रष्ट हैं…. उन्होंने दूसरे दलों के भ्रष्ट नेताओं पर आरोप लगाए, उन पर दबाव डाला और फिर उन्हें भाजपा में ले आए. भाजपा में शामिल होने के बाद वे नेता बेदाग हो गए और अब उन पर कोई मुकदमा नहीं चल रहा है.” वाद्रा ने कहा, ”दूसरे नेता वो हैं जो अपने भाषणों में आपके मुद्दों पर बात नहीं करते. वे महंगाई, आपकी चुनौतियों के बारे में बात नहीं करते. भाजपा में ऐसे दो तरह के नेताओं को आगे बढ़ाया जा रहा है.”

उन्होंने कहा, ”कांग्रेस में हम उन नेताओं को आगे बढ़ाने की कोशिश करते हैं जो लोगों को समझते हैं और उनके लिए काम करते हैं. हम देखते हैं कि वे लोगों के प्रति कितना सर्मिपत हैं.” कांग्रेस महासचिव ने कहा, ”आज लोग बड़ी-बड़ी समस्याओं से जूझ रहे हैं लेकिन उन पर बात नहीं हो रही है. वे जी-20, पाकिस्तान और चीन तथा बड़े आयोजनों के बारे में बात करते हैं, लेकिन आपके संघर्ष के बारे में बात नहीं की जा रही है.” कांग्रेस नेता ने कहा कि कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र को ‘न्याय पत्र’ नाम दिया है क्योंकि नरेन्द्र मोदी सरकार के पिछले 10 वर्षों में लोगों के साथ सबसे अधिक अन्याय हुआ है.

उन्होंने कहा, ”यहां उद्योगपतियों, बड़े नेताओं के साथ अन्याय नहीं हुआ और वे सभी आगे बढ़ रहे हैं. वे (भाजपा के लोग) सोचते हैं कि वे धर्म के नाम पर लोगों के वोट हासिल कर लेंगे और उन्हें लोगों के लिए काम नहीं करना पड़ेगा.” वाद्रा ने चुनावी बॉण्ड को लेकर भाजपा के नेतृत्व वाले केंद्र पर निशाना साधा और दावा किया कि यह प्रधानमंत्री मोदी द्वारा शुरू की गई भ्रष्टाचार की सबसे बड़ी योजना है.

उन्होंने कहा, ”मोदी जी दावा करते हैं कि वह अकेले ईमानदार हैं और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहे हैं.. वह ईमानदार हैं लेकिन ईमानदारी से आपके मुद्दों पर बात नहीं कर सकते, आपको ईमानदारी से नहीं बता सकते कि उन्होंने कितना रोजगार दिया, कितने विश्वविद्यालय, अस्पताल और स्कूल खोले .. वह स्वयं को ईमानदार कहते हैं, लेकिन मोदी जी इस देश में भ्रष्टाचार की सबसे बड़ी योजना (चुनावी बांड का जिक्र करते हुए) लाए हैं.”

प्रियंका गांधी वाद्रा ने कहा, ”क्या आपने कोविड का टीका लगवाया है? पहले वैक्सीन प्रमाणपत्रों पर मोदी जी का चेहरा (फोटो) होता था लेकिन अब इसे हटा दिया गया है क्योंकि उन्होंने वैक्सीन निर्माता कंपनी से (चुनावी बांड के माध्यम से) दान लिया है. आज जो बात सामने आई वो है एक मेडिकल रिपोर्ट. जिन लोगों ने वह टीका लिया था उनमें से एक-दो प्रतिशत लोगों की मंच पर या खेत में या जिम में गिरकर मृत्यु हो गई. पहले यह समझ नहीं आ रहा था कि ऐसा क्यों हो रहा है लेकिन अब कंपनी ने कहा है कि एक-दो प्रतिशत को ऐसी स्थितियों का सामना करना पड़ेगा. उन्होंने उनसे दान लिया और अब ईमानदार होने का दावा कर रहे हैं.” उन्होंने यह भी दावा किया कि भाजपा नेता कह रहे हैं कि अगर वे इस बार चार सौ से अधिक सीट के साथ सत्ता में आए तो वे संविधान बदल देंगे.

बेरोजगारी को लेकर भाजपा पर हमला बोलते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा कि देश में बेरोजगारी 35 साल में सबसे ज्यादा है लेकिन भाजपा नेता इस पर बात नहीं करेंगे, वे कभी नहीं बताएंगे कि आज देश में 70 करोड़ लोग बेरोजगार हैं और 30 लाख पद खाली पड़े हैं.
उन्होंने कहा, ”पांच किलो राशन ले लीजिए, अच्छा है. लेकिन, क्या इससे बच्चे और युवा अपना भविष्य बना पाएंगे? अगर मैं आपसे पांच किलो राशन और रोजगार के बीच विकल्प पूछूं तो आप क्या कहेंगे (लोगों ने जवाब दिया- रोजगार), क्योंकि रोजगार ही आपको सशक्त बनाएगा. पांच किलो राशन आपको क्या देगा? इसके खत्म होने के बाद, आपको फिर से सरकार के पास इसके लिए जाना होगा.”

वाद्रा ने कहा ”उनकी (भाजपा) योजना आपको पांच किलो राशन पर निर्भर बनाने की है. वे आपसे पांच किलो राशन और धर्म के नाम पर वोट मांग रहे हैं. जागरूक बनें. उनसे रोजगार देने और 30 लाख रिक्त पदों को भरने के लिए कहें.” उन्होंने हाथरस और उन्नाव बलात्कार की घटनाओं तथा महिला पहलवानों के विरोध को लेकर भाजपा पर निशाना साधा और महिलाओं पर अत्याचार को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की “चुप्पी” पर सवाल उठाया.

उन्होंने कहा, ”हाथरस में एक महिला के साथ दुष्कर्म किया गया और उसे जलाकर मार डाला गया, लेकिन मोदी जी और उनकी सरकार ने पलक तक नहीं झपकाई. उन्नाव मामले में भाजपा नेताओं ने एक शब्द भी नहीं बोला. ओलंपिक पदक विजेता महिला पहलवानों ने कहा कि भाजपा नेता ने उन पर अत्याचार किया है. प्रधानमंत्री ने उनकी बात नहीं सुनी बल्कि पूरी सरकार उस शख्स को बचाने में लग गई.” वाद्रा ने कहा कि इस देश की नींव आंदोलन है लेकिन आंदोलनों को कुचला जा रहा है.

उन्होंने कहा, ”आपके विरोध स्थल हसदेव बचाओ आंदोलन को आग लगा दी गई. हमारे देश की परंपरा क्या है? इस देश का निर्माण आंदोलन से हुआ था जो दुनिया का बहुत बड़ा आंदोलन था क्योंकि उसमें कोई हिंसा नहीं थी. दुनिया के अन्य देशों को युद्धों से और खून बहाकर आजादी मिली, लेकिन हमारे देश को आजादी अहिंसा से मिली. आंदोलन ही देश की नींव है. लेकिन हसदेव क्षेत्र में आपके आंदोलन स्थल को आग लगा दी गई, पेड़ों को काटा जा रहा है और उद्योगपतियों के लिए पर्यावरण को नष्ट किया जा रहा है.”

छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली पिछली कांग्रेस सरकार की योजनाओं की सराहना करते हुए उन्होंने कहा, ”बघेल को (केंद्रीय एजेंसियों का उपयोग करके) निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि उन्होंने छत्तीसगढ़ के लोगों का गौरव बढ़ाने और उनके कल्याण के लिए काम किया है.” छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीट में से चार पर आम चुनाव के पहले दो चरणों में मतदान हो चुका है. कोरबा सहित शेष सात सीट पर तीसरे चरण में सात मई को मतदान होगा.

मेरे पिता को विरासत में अपनी मां से दौलत नहीं, बल्कि शहादत मिली; प्रियंका गांधी
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनके पिता राजीव गांधी को अपनी मां पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत इंदिरा गांधी से विरासत में संपत्ति नहीं बल्कि ”शहादत” मिली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले हफ्ते आरोप लगाया था कि राजीव गांधी ने सत्ता में आने के बाद विरासत कर को खत्म कर दिया ताकि उन्हें अपनी मां से विरासत में मिली संपत्ति पर कर न लगे.

प्रियंका गांधी ने यहां एक चुनावी रैली में कहा, “मेरे पिता को विरासत में संपत्ति नहीं मिली, उन्हें विरासत में अपनी मां से शहादत मिली.” पिछले हफ्ते मुरैना में एक रैली में मोदी ने कहा था कि पहले कानून के मुताबिक मृत व्यक्ति की आधी संपत्ति सरकार के पास चली जाती थी. उन्होंने कहा था, “तब ऐसी चर्चा थी कि इंदिरा जी ने अपनी संपत्ति अपने बेटे राजीव गांधी के नाम कर दी थी. (उनकी मृत्यु के बाद) सरकार को मिलने वाले पैसे को बचाने के लिए, तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने विरासत कर को समाप्त कर दिया.” कांग्रेस ने इस दावे का खंडन किया था.

इस बीच, प्रियंका ने मोदी को मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में आवारा मवेशियों के लिए गौशालाएं बनाने की चुनौती दी. उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा है, सावधान रहें, अगर आपके पास दो भैंसे हैं, तो कांग्रेस उनमें से एक चुरा लेगी.” कांग्रेस नेता ने कहा, “मैं मोदी जी को चुनौती देती हूं; उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में आवारा मवेशियों को इकट्ठा करें और उन्हें गौशाला में रखें.” उन्होंने कहा, “आवारा मवेशियों की समस्या का समाधान करें. गौशाला बनाएं, उन्हें मजबूत करें, जैसा कि छत्तीसगढ. में पिछली कांग्रेस सरकार ने किया था.” गांधी ने कहा कि छत्तीसगढ. में गौशालाओं ने महिलाओं को आय प्रदान की और सरकार ने उनसे गाय का गोबर खरीदा.

कांग्रेस नेता ने दावा किया कि देश में बेरोजगारी दर 45 साल के उच्चतम स्तर पर है और सरकारी भर्ती परीक्षाएं पेपर लीक से प्रभावित हो रही हैं, जबकि मोदी सरकार उपलब्ध रोजगार के रास्ते भी बंद कर रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने 20 से 22 व्यापारियों का 16 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ कर दिया है. गांधी ने दावा किया, ”मोदी सरकार के तहत, पिछले दस वर्षों में गरीब और गरीब हो गए हैं.”