आणंद. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कांग्रेस को ‘पाकिस्तान का मुरीद’ करार देते हुए आरोप लगाया कि भारत की सबसे पुरानी पार्टी आज जब ‘मर’ रही है तो उसके लिए पड़ोसी मुल्क के नेता दुआ कर रहे हैं और ‘शहजादे’ को प्रधानमंत्री बनाने के लिए उतावले हैं क्योंकि देश के दुश्मन यहां एक कमजोर सरकार चाहते हैं.

मध्य गुजरात के आणंद शहर में आणंद और खेड़ा लोकसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवारों के समर्थन में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने यह आरोप भी लगाया कि कांग्रेस देश के संविधान में बदलाव कर मुस्लिमों को अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) समुदायों का आरक्षण देना चाहती है.

लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस को पाकिस्तान के साथ जोड़ने का मोदी का बयान ऐसे समय में आया है जब एक दिन पहले पाकिस्तान में इमरान खान की कैबिनेट में मंत्री रहे चौधरी फवाद हुसैन ने कथित तौर पर अपने सोशल मीडिया हैंडल पर राहुल गांधी का एक वीडियो साझा किया था और उनकी तारीफ की थी.

मोदी ने कटाक्ष किया, ”संयोग देखिए, आज भारत में कांग्रेस कमजोर हो रही है. मजा ये है कि यहां कांग्रेस मर रही है और वहां पाकिस्तान रो रहा है. कांग्रेस के लिए अब पाकिस्तानी नेता दुआ कर रहे हैं. शहजादे (राहुल गांधी की ओर इशारा करते हुए) को प्रधानमंत्री बनाने के लिए पाकिस्तान उतावला है.”

उन्होंने कहा, ”यह आश्चर्य की बात नहीं है क्योंकि हम पहले से ही जानते हैं कि कांग्रेस पाकिस्तान की ‘मुरीद’ है. पाकिस्तान और कांग्रेस की साझेदारी का पर्दाफाश हो गया है. यह दिखाता है कि देश के दुश्मन भारत में मजबूत नहीं बल्कि कमजोर सरकार चाहते हैं.” उन्होंने कहा, ”एक कमजोर सरकार जो 26/11 के मुंबई आतंकी हमले के समय थी. वे एक भ्रष्ट सरकार चाहते हैं जो 2014 से पहले थी. लेकिन मोदी की मजबूत सरकार न तो झुकती है और न ही रुकती है.” उन्होंने कहा कि अब पहले जैसी स्थिति नहीं है जब कांग्रेस सत्ता में थी, अब पाकिस्तान के आतंक के टायर पंक्चर हो गए हैं.

मोदी ने कहा, ”जो देश अतीत में आतंक का निर्यात करता था, वह अब आटा आयात करने के लिए जूझ रहा है. जिन हाथों में बम होते थे, वे अब ‘भीख का कटोरा’ पकड़े हुए हैं.” प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया भर के लोग अब कह रहे हैं कि भारत दुनिया का सबसे तेजी से उभरता देश है और उसे ‘विश्व बंधु’ के तौर पर देखा जाता है जो दो देशों के बीच विवादों को हल कर सकता है.

आरक्षण के मुद्दे पर उन्होंने आरोप लगाया, ”कांग्रेस मुसलमानों को आरक्षण देना चाहती है, जो कि उसका पसंदीदा वोट बैंक है. इसके लिए वे संविधान में बदलाव चाहते हैं. मैं कांग्रेस को चुनौती देता हूं कि वह लिखित में दे कि वह मुसलमानों को धार्मिक आधार पर आरक्षण देने के लिए संविधान में बदलाव नहीं करेगी.” प्रधानमंत्री ने कांग्रेस और ‘इंडिया’ गठबंधन को चुनौती दी कि वे लिखित में दें कि जिन राज्यों में पार्टी और उसके सहयोगी सत्ता में हैं, वहां ओबीसी कोटा घटाकर पिछले दरवाजे से मुसलमानों को आरक्षण नहीं दिया जाएगा.

उन्होंने कहा, ”मैं शहजादे को यह गारंटी देने की चुनौती दे रहा हूं. संविधान की प्रति सिर पर उठाकर नाचने का कोई मतलब नहीं है. अगर आप सीखना चाहते हैं कि संविधान के लिए कैसे जीना है और उसके लिए कैसे मरना है, तो मोदी के पास आइए.” मोदी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की भतीजी मारिया आलम के ‘वोट जिहाद’ के आह्वान को लेकर भी कांग्रेस पर निशाना साधा.
फर्रुखाबाद लोकसभा सीट से विपक्षी ‘इंडिया’ गठबंधन के उम्मीदवार नवल किशोर शाक्य के लिए वोट मांगते हुए समाजवादी पार्टी (सपा) की नेता मारिया आलम ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार को हटाने के लिए ‘वोट जिहाद’ की अपील की थी और इसे अल्पसंख्यक समुदाय के लिए मौजूदा हालात में जरूरी बताया था.

मोदी ने इसका जिक्र करते हुए कहा, ”अब ‘इंडिया’ गठबंधन ‘वोट जिहाद’ का आह्वान कर रहा है. हमने अब तक ‘लव जिहाद’ और ‘लैंड जिहाद’ के बारे में सुना है. यह (वोट जिहाद) एक शिक्षित मुस्लिम परिवार से ताल्लुक रखने वाले व्यक्ति द्वारा कहा जाता है, न कि मदरसे में पढ़ने वाले किसी व्यक्ति द्वारा. मुझे आशा है कि आप सभी जानते हैं कि जिहाद का अर्थ क्या है. यह लोकतंत्र का अपमान है और कांग्रेस के किसी भी नेता ने इसकी निंदा नहीं की है.” उन्होंने कहा कि इस तरह के बयान साबित करते हैं कि ‘इंडिया’ गठबंधन के इरादे खतरनाक हैं.

इस मौके पर मोदी ने सरदार वल्लभभाई पटेल को याद किया और कहा कि जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया जाना देश के पहले गृह मंत्री को उनकी सबसे बड़ी श्रद्धांजलि है. मोदी ने कहा कि पिछले 10 साल में उनकी सरकार ने 14 करोड़ घरों में नल के पानी के कनेक्शन दिए जबकि कांग्रेस नीत सरकारों ने 60 साल के अपने शासन में सिर्फ तीन करोड़ घरों को कनेक्शन दिया. उन्होंने कहा कि यह उनकी गारंटी है कि वह 2047 तक भारत को एक विकसित देश बनाने के लिए चौबीसों घंटे काम करेंगे.