हैदराबाद: सनराइजर्स हैदराबाद के मध्यक्रम को मजबूती देने की भूमिका बखूबी निभा रहे युवा नीतिश रेड्डी को भविष्य में भारतीय टीम के हरफनमौला के रूप में देखा जा रहा है चूंकि वह उपयोगी मध्यम तेज गेंदबाज भी हैं।

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ आईपीएल के मैच में पारी की शुरूआत करते हुए रेड्डी ने नाबाद 76 रन बनाये और ट्रेविस हेड ने आक्रामक अर्धशतक लगाया। हेनरिच क्लासेन ने 19 गेंद में 42 रन बनाकर सनराइजर्स को तीन विकेट पर 201 रन तक पहुंचाया।

अनुभवी भुवनेश्वर कुमार ने बेहतरीन आखिरी ओवर डालकर रॉयल्स को एक रन से हराने में अहम भूमिका निभाई। नीतिश ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा,‘ पिछले दो मैचों में जल्दी विकेट गिरने के कारण मुझे उतरना पड़ रहा था।

मेरा काम 13वें 14वें ओवर तक टिकना है ताकि बाद में क्लासेन आक्रामक खेल सके। समद और क्लासेन को जल्दी उतारने का कोई मतलब नहीं अगर वे खुलकर नहीं खेल सकें।’’ उन्होंने आखिरी ओवर में शानदार प्रदर्शन के लिये भुवनेश्वर की तारीफ करते हुए कहा,‘‘ मैं देख रहा था कि आखिरी ओवर कौन डालता है। जब भुवनेश्वर को गेंद सौंपी गई तो मुझे यकीन हो गया कि वह मैच जिता देगा।

वह अपने कैरियर में कई बार ऐसा कर चुका है।’’ वहीं रॉयल्स के बल्लेबाज रियान पराग ने 49 गेंद में 77 रन बनाये लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके। उन्होंने कहा ,‘‘ मुझे कई पहलुओं पर काम करना है। मैं अपने सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में नहीं हूं। मुझे टीम को जीत तक ले जाना चाहिये था। अपनी गलतियों से सबक लेकर मैं उन्हें दोहराने से बचूंगा।’’