अहमदाबाद. अहमदाबाद में लोकसभा चुनाव से पहले सोमवार को शहर के 10 स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला ईमेल मिला है, लेकिन पुलिस ने सभी विद्यालयों की तलाशी के बाद इसे फर्जी करार दिया. अहमदाबाद नगर अपराध शाखा ने एक बयान में बताया कि सूचना मिलने के बाद पुलिस, बम रोधी दस्ता, श्वान दस्ता और अपराध शाखा की टीम इन स्कूलों में पहुंची और उनकी अच्छी तरह से तलाशी ली.

बयान में कहा गया है, ” तलाशी अभियान के दौरान कोई विस्फोटक नहीं मिला. हमारी टीम इन इलाकों में गश्त कर रही हैं.” उसमें कहा गया है कि ईमेल भेजने वाले का पता लगाने के लिए तकनीकी निगरानी भी शुरू कर दी गई है. अपराध शाखा ने कहा, “हम लोगों से अपील करते हैं कि वे घबराएं नहीं और अफवाहों से बचें. यह धमकी फर्जी थी.” बयान में कहा गया है कि (स्कूलों को भेजे गए) इस ईमेल को नजरअंदाज करें और बिना किसी डर के कल अपने मताधिकार का इस्तेमाल करें. जिन स्कूलों को धमकी भरा ईमेल मिला उनमें बोपल में डीपीएस और आनंद निकेतन, एसजी हाईवे पर उदगम स्कूल, घाटलोदिया में कैलोरक्स स्कूल, चांदखेड़ा और एयरपोर्ट रोड पर आर्मी कैंटोनमेंट के में केंद्रीय विद्यालय शामिल हैं.

उदगम स्कूल के प्रशासक धीमंत चोकसी ने कहा, “ईमेल भेजने वाले ने हमारे स्कूल को बम से उड़ाने की धमकी दी. हमारे स्कूल में 24 घंटे सुरक्षा रहती है और कल हमारे परिसर में नीट की परीक्षा आयोजित की गई थी. हमें बाहर से कोई पार्सल नहीं मिला और हमारे स्कूल के दरवाजे भी बंद थे.” पुलिस उपायुक्त (साइबर अपराध प्रकोष्ठ) लविना सिन्हा ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ” कुछ स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी देना वाला ईमेल मिला है. ऐसा लगता है कि यह कुछ दिन पहले दिल्ली के स्कूलों को बम विस्फोट की धमकी देने वाले ईमेल की ही तरह है. शुरुआती जांच के मुताबिक, ईमेल को भारत के बाहर से भेजा गया है.” उन्होंने बताया कि तलाशी के दौरान कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला.

जिला शिक्षा अधिकारी रोहित चौधरी ने कहा कि ईमेल प्राप्त होने के बाद स्कूलों ने स्थानीय पुलिस को सूचित किया, जबकि उनके विभाग ने नियंत्रण कक्ष को इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा, ” शुरुआती जांच से पता चला है कि यह फर्जी है और यह धमकी सात मई को होने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर शांतिपूर्ण माहौल को बाधित करने के लिए दी गई थी.” गुजरात की 25 लोकसभा सीट पर मंगलवार को मतदान होगा.