गढ़चिरौली. महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले के एक पहाड़ी इलाके में पुलिस ने सोमवार को नक्सलियों द्वारा लगाए गए नौ ‘इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस’ (आईईडी) और अन्य विस्फोटक सामग्रियों को नष्ट कर दिया. एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी. गढ़चिरौली के पुलिस अधीक्षक नीलोत्पल ने बताया कि पुलिस को टीपागड क्षेत्र में विस्फोटकों के बारे में सूचना मिली जिसके बाद बम निरोधक और बम का पता लगाने वाले दो दस्ते, एक त्वरित कार्रवाई दल और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) केसी-60 को विस्फोटकों की तलाश करने और जरूरत पड़ने पर मौके पर ही नष्ट करने के लिए रवाना किया गया.

पुख्ता जानकारी मिली थी कि माओवादियों ने लोकसभा चुनाव के दौरान आईईडी विस्फोट करने की साजिश रची है. उन्होंने बताया कि सूचना में स्थान के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई, इसलिए पूरे क्षेत्र में व्यापक अभियान चलाया गया और हमलों को रोकने के लिए सुरक्षाबलों की भारी तैनाती की गई. अधिकारी ने बताया कि रविवार को पुलिस को सूचना मिली कि टीपागड में विस्फोटक लगाए गए हैं और इलाके की तलाशी के लिए बम निरोधक दस्ते और सीआरपीएफ जवानों की एक टीम को रवाना किया गया.

उन्होंने बताया कि टीम ने नौ आईईडी, तीन ‘क्लेमोर’ पाइप, विस्फोटकों और डेटोनेटर से भरे छह प्रेशर कुकर तथा विस्फोटकों और छर्रों से भरे तीन और क्लेमोर पाइप बरामद किए. अधिकारी ने बताया कि घटनास्थल से बारूद से भरा एक प्लास्टिक बैग और कुछ दवाएं और कंबल भी बरामद किए गए हैं. उन्होंने बताया कि बम निरोधक दस्ते ने नौ आईईडी और तीन क्लेमोर पाइप को वहीं पर नष्ट कर दिया. बाकी सामग्री मौके पर ही जला दी गई.