लखनऊ. विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कांग्रेस और ‘इंडिया’ के घटक दलों को ‘रामद्रोही’ और ‘राष्ट्रद्रोही’ बताया. अयोध्या में भगवान रामलला का दर्शन करने पर छत्तीसगढ़ से कांग्रेस पार्टी की नेता राधिका खेड़ा के साथ पार्टी के सदस्यों द्वारा दुर्व्यवहार किए जाने के संबंध में पूछे गए एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने अपने आधिकारिक आवास पर संवाददाताओं से कहा, “यह घटना दर्शाती है कि रामद्रोह कांग्रेस, सपा और इंडिया के घटक दलों के डीएनए में है.”

उन्होंने कहा, ”वे रामद्रोही और राष्ट्रद्रोही दोनों हैं. छत्तीसगढ़ भगवान राम से जुड़ा है और कोई भी राम भक्त किसी भी पार्टी का हो सकता है.” लखनऊ में जारी एक बयान के मुताबिक योगी आदित्यनाथ ने कहा, ”यह विपक्षी दलों के समूह इंडिया का चरित्र है. उन्होंने हमेशा भगवान राम और उनके भक्तों का निरादर किया है. वे बहुसंख्यक समुदाय को अपमानित करने का हर प्रयास करते हैं. चाहे वह कांग्रेस हो, सपा हो, नेशनल कान्फ्रेंस हो या द्रमुक हो, इन सभी पार्टियों का आचरण निदंनीय है. यह इन पार्टियों का रामद्रोही आचरण है जो उन्हें रसातल में ले जा रहा है.” आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस ने दुनिया की नजर में भारत को नीचा दिखाने का एक भी अवसर नहीं छोड़ा और न ही हिंदू धर्म को नीचा दिखाने में संकोच किया.

मुख्यमंत्री ने लोगों से रामद्रोही व्यवहार को राष्ट्र विरोधी व्यवहार की तरह लेने का आग्रह किया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘राम भक्त’ और ‘राष्ट्र भक्त’ का प्रतीक बताया. योगी आदित्यनाथ ने कहा, ”500 वर्षों की लंबी प्रतीक्षा के बाद अयोध्या में राम मंदिर का सपना पूरा हुआ है. अयोध्या का यह परिवर्तन मोदी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में संभव हुआ. आज नया अयोध्या हमारे समक्ष एक नया अध्याय पेश कर रहा है.ह्व उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की अयोध्या में उपस्थिति से न केवल राष्ट्र गौरवान्वित है, बल्कि दुनियाभर में राम भक्त भी गदगद हैं.