मुंबई. सलामी बल्लेबाज ट्रेविस हेड (48) के बाद मुश्किल हालात में कप्तान पैट कमिंस की 17 गेंद में 35 रन की नाबाद पारी से सनराइजर्स हैदराबाद ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) टी20 मैच में सोमवार को यहां आठ विकेट पर 173 रन बनाये. सनराइजर्स की टीम ने 17वें ओवर में 136 रन पर आठवां विकेट गंवा दिया था लेकिन कमिंस ने दो चौके और दो छक्के जड़ने के साथ नौवें विकेट के लिए सनवीर सिंह (नाबाद आठ) के साथ 19 गेंद में 37 रन की अटूट साझेदारी कर टीम को चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाया. हेड ने 30 गेंद की पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया.

मुंबई के लिए अनुभवी लेग स्पिनर पीयूष चावला (33 रन पर तीन विकेट) और कप्तान हार्दिक पंड्या (31 रन पर तीन विकेट) ने शानदार गेंदबाजी की. जसप्रीत बुमराह (23 रन पर एक विकेट) एक बार फिर किफायती रहे तो वहीं अपने पदार्पण मैच में अंशुल कंबोज (42 रन पर एक विकेट) ने प्रभावित किया.

ट्रेविस हेड और अभिषेक शर्मा (11) ने एक बार फिर से सनराइजर्स को आक्रामक शुरुआत दिलायी. अभिषेक ने पदार्पण कर रहे कंबोज के खिलाफ पारी के दूसरे तो वहीं हेड ने पांचवें ओवर में छक्का लगाया. हेड ने छक्का जड़ने के बाद दो चौके भी लगाकर पांच ओवर के अंदर टीम के रनों का पचासा पूरा कर दिया. इस ओवर में कंबोज ने हेड को बोल्ड कर दिया था लेकिन क्रीज से पैर बाहर निकलने के कारण इसे नोबॉल करार दिया गया.

बुमराह ने छठे ओवर में अभिषेक को आउट कर पहले विकेट के लिए 56 रन की साझेदारी को तोड़ा. हेड को आठवें ओवर में कंबोज के खिलाफ दूसरी बार जीवनदान मिला जब थर्डमैन की दिशा में नुवान तुषारा ने उनका आसान कैच टपका दिया. इस गेंदबाज ने हालांकि हार नहीं मानी और इसी ओवर में मयंक अग्रवाल (पांच) को बोल्ड कर आईपीएल का अपना पहला विकेट चटकाया.

हेड इसके बाद चावला के खिलाफ बड़े शॉट के साथ अर्धशतक पूरा करने की कोशिश में डीप स्क्वायर लेग पर तिलक वर्मा को कैच दे बैठे. अगले ओवर में हार्दिक ने नितीश कुमार रेड्डी (20) को पवेलियन की राह दिखायी तो वहीं चावला ने हेनरिच क्लासेन (दो) को अपनी स्पिन में फंसा कर सनराइजर्स को 96 रन पर पांचवां झटका दिया.

मार्को यानसेन (17) ने कुछ अच्छे शॉट लगाये लेकिन वह और शाहबाज अहमद (12) 16वें ओवर में हार्दिक का शिकार बन गये. अगले ओवर में कमिंस ने चावला पर छक्का जड़ा लेकिन इस गेंदबाज ने अब्दुल समद (तीन) को पगबाधा कर दिया. कमिंस ने इसके बाद खुद ज्यादा स्ट्राइक रखने की कोशिश और आखिरी ओवर में तुषारा के खिलाफ लगातार गेंदों पर चौका और छक्का लगाकर टीम को 170 रन के पार पहुंचाया.