धार/खरगोन. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि वह चाहते हैं कि भाजपा के नेतृत्व वाला राजग मौजूदा लोकसभा चुनाव में 400 सीट जीते ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि कांग्रेस कश्मीर में अनुच्छेद 370 वापस न लाए और अयोध्या में राम मंदिर पर “बाबरी ताला” न लगाए.

मध्य प्रदेश के धार में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने मुसलमानों को आरक्षण का लाभ देने के राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के बयान की भी आलोचना की. उन्होंने कहा कि विपक्षी ‘इंडिया’ गुट की ‘साजिश’ गहरी है और वह अपने वोट बैंक के लिए एससी, एसटी और ओबीसी का पूरा आरक्षण चाहता है. उन्होंने कांग्रेस पर डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर को अपमानित करने का भी आरोप लगाया, उन्होंने कहा कि विपक्षी दल ने यह कहना शुरू कर दिया है कि संविधान बनाने में उनकी बहुत कम भूमिका थी. मोदी ने कहा, “सच्चाई यह है कि कांग्रेस परिवार डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर से बेहद नफरत करता है.” प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस अफवाह फैला रही है कि अगर उन्हें 400 लोकसभा सीटे मिलेंगी तो वे संविधान बदल देंगे. उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है जैसे कांग्रेस के लोगों की बुद्धि अपने वोट बैंक पर केंद्रित हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा, “देश के लोगों के लिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि भाजपा के नेतृत्व वाले राजग के पास पहले से ही संसद में 400 से अधिक सीट हैं. हमने इस संख्या का उपयोग अनुच्छेद 370 (जो जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करता था) को खत्म करने के लिए किया है.” उन्होंने कहा, ”मोदी 400 सीट चाहता है ताकि कांग्रेस खेल खराब करने के लिए अनुच्छेद 370 वापस न लाये, मोदी 400 सीट चाहता है ताकि कांग्रेस अयोध्या में राम मंदिर पर बाबरी ताला न लगा दे.” प्रधानमंत्री ने कहा कि करीब 14 दिन पहले उन्होंने कांग्रेस को चुनौती दी थी कि वह देश के 140 करोड़ लोगों को लिखकर दे कि वह धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं देगी.

उन्होंने कहा, “दूसरा, मैंने उनसे (कांग्रेस के नेताओं से) लिखित में देने को कहा कि वे एससी, एसटी और ओबीसी को दिया जा रहा आरक्षण कभी नहीं छीनेंगे और तीसरा, यह लिखित देने को कहा कि वे मौजूदा ओबीसी आरक्षण से डकैती करके मुसलमानों को आरक्षण कभी नहीं देंगे. लेकिन वे कोई जवाब नहीं दे रहे हैं और मुंह पर ताला लगाकर चुपचाप बैठे हैं.”

प्रधानमंत्री ने कहा कि वह कांग्रेस को अपने वोट बैंक को फायदा पहुंचाने के लिए ओबीसी कोटा की “डकैती” से रोकने के लिए 400 लोकसभा सीट चाहते हैं. मोदी ने कहा,” पिछले पांच वर्षों में, हमारे पास राजग सर्मिथत क्षेत्रीय दलों और निर्दलीय सहित लगभग 400 सीट थीं. हमने इसका इस्तेमाल अनुच्छेद 370 को खत्म करने के लिए किया.” मोदी ने कहा,” हमने इन 400 से अधिक सीट का उपयोग एससी/एसटी आरक्षण को 10 साल के लिए बढ़ाने और एक आदिवासी महिला को देश का राष्ट्रपति नियुक्त करने के लिए भी किया है.” प्रधानमंत्री ने कहा कि वह 400 सीट इसलिए मांग रहे हैं ताकि कांग्रेस और इंडी गठबंधन की हर साजिश को रोक सकें.

उन्होंने कहा, ”मोदी 400 सीट इसलिए मांग रहे हैं ताकि कांग्रेस देश की खाली जमीन और द्वीप दूसरे देशों को न सौंप दे, एसटी/ एससी/ ओबीसी को मिला आरक्षण छीनकर अपने वोट बैंक को न दे दे.” लालू प्रसाद पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस उन्हें अपने सिर पर नचा रही है.

मोदी ने कहा, ” उनके नेता ने जानवरों का चारा खाया है. भ्रष्टाचार के मामले में अदालत द्वारा दोषी ठहराए गए वह अब स्वास्थ्य कारणों से जमानत पर हैं. अब लालू कह रहे कि मुसलमानों को सिर्फ आरक्षण ही नहीं मिलना चाहिए बल्कि सारा आरक्षण मुसलमानों को दिया जाना चाहिए.” मोदी ने कहा, “इसका मतलब है कि वे एससी, एसटी और ओबीसी से सारा आरक्षण छीनकर मुसलमानों के लिए चाहते हैं.”

मोदी ने कहा, ”ये लोग ऐसा इसलिए कर रहे हैं क्योंकि वे इसी ”वोट बैंक” के सहारे अपनी बची हुई सांसें गिन रहे हैं, बाकी सब खत्म हो गया है, उनके पास कुछ नहीं बचा है.” उन्होंने कहा, ह्लमैं कह रहा था कि वे आरक्षण का कुछ हिस्सा काट देंगे और इसे धर्म के आधार पर देंगे लेकिन साजिश गहरी है. वे मतदान के दिन कह रहे हैं कि वे एससी, एसटी और ओबीसी का सारा आरक्षण मुस्लिम समुदाय को देना चाहते हैं.” मोदी ने सवाल किया, “क्या आप कांग्रेस और उसके सहयोगियों के इस खेल को स्वीकार करते हैं? ऐसे लोगों को अपनी जमानत खोनी चाहिए या नहीं?” उन्होंने कहा कि आंबेडकर ने धर्म आधारित आरक्षण का विरोध किया था.उन्होंने कहा, “क्या ऐसे लोगों को हमेशा के लिए राजनीति से दूर रखा जाना चाहिए या नहीं? यह बी आर आंबेडकर को सबसे बड़ी श्रद्धांजलि होगी.” उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस सत्ता से बाहर थी, तब आंबेडकर को भारत रत्न दिया गया था.

मोदी ने कहा, “कांग्रेस ने यह कहना शुरू कर दिया है कि संविधान बनाने में उनकी (आंबेडकर) बहुत कम भूमिका थी और पंडित नेहरू ने संविधान बनाने में सबसे महत्वपूर्ण योगदान दिया था.” उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने आंबेडकर और संविधान की पीठ में छुरा घोंपा है.
मोदी ने कहा कि कांग्रेस तुष्टीकरण की राजनीति के दलदल में इतनी गहराई तक डूब गई है कि उसे कुछ और नजर नहीं आ रहा है.
उन्होंने कहा, “अगर कांग्रेस की चले तो वह कहेगी कि उसके वोट बैंक को भारत में रहने का पहला अधिकार है.” प्रधानमंत्री ने कहा, ”जब तक मोदी जीवित हैं, वह नकली और छद्म धर्मनिरपेक्षता के नाम पर भारत की पहचान को मिटाने के प्रयासों को विफल कर देंगे.”

मोदी ने कहा कि लोकसभा चुनाव के पहले चरण में विपक्ष हार गया, दूसरे चरण में नष्ट हो गया और आज तीसरे चरण में जो कुछ बचा है वह भी ढह जाएगा. उन्होंने कहा, ”क्योंकि पूरे देश ने तय कर लिया है कि ‘फिर एक बार”, जिस पर लोगों ने ‘मोदी सरकार’ का नारा जोड़ दिया. मोदी ने कहा कि इन ”वंश वादियों ने खुद को महिमामंडित करने के लिए झूठा इतिहास लिखा और अब संविधान के बारे में भी झूठ बोलना शुरू कर दिया है.”

लोगों को तय करना होगा कि देश ‘वोट जिहाद’ से चलेगा या ‘राम राज्य’ से : नरेन्द्र मोदी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि देश इतिहास के एक अहम मोड़ पर पहुंच गया है और लोगों को यह तय करना होगा कि देश ‘वोट जिहाद’ से चलेगा या ‘राम राज्य’ से. मध्य प्रदेश के खरगोन में एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने विपक्षी कांग्रेस पर भी निशाना साधा और कहा कि उसकी मंशा बहुत खतरनाक है और वह मोदी के खिलाफ “वोट जिहाद” का आह्वान करती है.

उन्होंने कहा, “भारत इतिहास के एक महत्वपूर्ण मोड़ पर है; आपको यह तय करना होगा कि देश वोट जिहाद से चलेगा या राम राज्य से.” एक सप्ताह पहले एक चुनावी रैली में कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की भतीजी, समाजवादी पार्टी (एसपी) नेता मारिया आलम ने उत्तर प्रदेश की फर्रुखाबाद लोकसभा सीट से इंडिया ब्लॉक के उम्मीदवार नवल किशोर शाक्य के पक्ष में “वोट जिहाद” का आह्वान किया था. सपा कांग्रेस की सहयोगी है और विपक्षी ‘इंडिया’ गुट का एक प्रमुख घटक है.

मोदी ने कहा, “विपक्ष के ‘इंडी’ गठबंधन के सहयोगियों को जनता के भाग्य की चिंता नहीं है… वे अपने परिवार को बचाने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं.” उन्होंने जानना चाहा कि क्या लोकतंत्र में ‘वोट जिहाद’ जैसी अवधारणा स्वीकार्य है. मोदी ने कहा, “पाकिस्तान में आतंकवादी भारत के खिलाफ जिहाद की धमकी दे रहे हैं और इधर, कांग्रेस के लोगों ने भी मोदी के खिलाफ वोट जिहाद करने की घोषणा की है… इसका मतलब है कि एक विशेष धर्म के लोगों को मोदी के खिलाफ एकजुट होकर वोट करने के लिए कहा जा रहा है. कल्पना कीजिए कि कांग्रेस किस स्तर तक गिर गई है.” भाजपा के दिग्गज नेता मोदी ने भीड़ से पूछा, “क्या आप वोट जिहाद की अवधारणा को स्वीकार करते हैं? क्या यह चीज लोकतंत्र में काम कर सकती है? क्या भारतीय संविधान इसकी इजाजत देता है?” प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के इरादे भयानक हैं और उसकी साजिशें खतरनाक हैं.

उन्होंने कहा, “इसे समझने के लिए आपको उन लोगों की बात सुननी होगी जो 20-25 साल से कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता रहे और अब इन लोगों ने कांग्रेस छोड़ दी है.” मोदी ने कहा, ”अब उनकी बात सुनिए, एक महिला ने कहा कि जब वह राम मंदिर गई तो उसे इतना ‘टार्चर’ किया गया कि उसे कांग्रेस छोड़नी पड़ी. कांग्रेस छोड़ने वाले एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि पार्टी पर मुस्लिम लीग और माओवादियों ने कब्जा कर लिया है.” उन्होंने कहा, “कांग्रेस छोड़ने वाले एक और नेता ने एक गहरी साजिश का खुलासा करते हुए कहा कि कांग्रेस के शहजादे राम मंदिर पर शीर्ष अदालत के फैसले को पलटने का इरादा रखते हैं, जैसा कि उनके पिता ने शाह बानो मामले में किया था.” उच्चतम न्यायालय ने 1985 में इंदौर की मुस्लिम महिला शाह बानो के पक्ष में फैसला सुनाया, जिसने तलाक के बाद अपने पति से गुजारा भत्ता मांगा था, लेकिन तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने एक अधिनियम के माध्यम से फैसले को पलट दिया.

मोदी ने आरोप लगाया ,” कांग्रेस और विपक्ष के ‘इंडी’ गठबंधन को न तो हमारी आस्था की परवाह है और न ही राष्ट्रीय हित की. कांग्रेस के लोगों में देश विरोधी बयान देने की होड़ मची हुई है.” प्रधानमंत्री ने कहा कि हर चरण के मतदान के बाद कांग्रेस का ‘पाकिस्तान प्रेम’ अपने चरम पर पहुंच रहा है. उन्होंने कहा, ”कांग्रेस के एक पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सेना आतंकवादी हमले करती है और पाकिस्तान निर्दोष है.” उन्होंने कहा कि एक और बड़े कांग्रेस नेता की बेशर्मी देखिए, जिन्होंने कहा कि मुंबई आतंकी हमले में पाकिस्तान की कोई भूमिका नहीं थी.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के एक अन्य सहयोगी दल के नेता ने भारत को धमकी देते हुए कहा कि पाकिस्तान ने चूड़ियां नहीं पहनी हैं.
उन्होंने कहा, ”मैं कांग्रेस के शहजादे से पूछता हूं कि आपके जो साथी ऐसा बोल रहे हैं उनकी मंशा क्या है? पाकिस्तान से इतना प्यार और हमारी सेना से इतनी नफरत क्यों? इसलिए लोग कहते हैं- कांग्रेस का हाथ” ….” मोदी के इतना कहने के बाद सभा में मौजूद लोगों ने कहा “पाकिस्तान के साथ….” उन्होंने कहा, ”वे सोचते हैं कि पाकिस्तान के प्रति अपना प्यार दिखाकर वे अपना वोट-बैंक तो मजबूत कर लेंगे, लेकिन उनके लिए अपनी जमानत बचाना मुश्किल हो जाएगा.” शीर्ष भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि कांग्रेस लोगों की संपत्ति लूटना चाहती है और संविधान के मुख्य वास्तुकार बी आर आंबेडकर द्वारा नौकरियों और शिक्षा में दिए गए आरक्षण के साथ छेड़छाड़ करना चाहती है.

मोदी ने कहा कि तुष्टीकरण और वोटबैंक की राजनीति के लिए, कांग्रेस धर्म के आधार पर किसी अन्य समुदाय को आरक्षण देना चाहती है जो एससी/एसटी/ओबीसी के लिए है. उन्होंने कहा, “उन्होंने ऐसा किया है. उन्होंने रातों-रात सरकारी आदेश जारी किए और सभी मुसलमानों (कर्नाटक का संदर्भ) को ओबीसी का दर्जा देने के लिए एक कानून लाए. इसका मतलब है कि वे ओबीसी आरक्षण के हकदार बन गये. वे पूरे देश में यह मॉडल लागू करना चाहते हैं.” विरासत कर के मुद्दे को उठाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने कहा है कि वे लोगों की संपत्ति का एक्स-रे और सर्वेक्षण करेंगे, लेकिन “मैंने उनके दिमाग का एक्स-रे किया है. वे संपत्तियों को छीन लेंगे और अपने वोट बैंक में बांट देंगे.. मोदी उनके छिपे हुए एजेंडे को उजागर कर रहा है.” अपने राजनीतिक विरोधियों पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि जैसे ही उन्होंने विपक्ष के एजेंडे को उजागर किया है, विपक्ष ने उनके खिलाफ अपना पूरा ” गालियों का शब्दकोश” खाली कर दिया है.

मोदी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा, “आपके वोट ने भारत को दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बना दिया है, अनुच्छेद 370 (जो जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देता था) को हटा दिया है, एक आदिवासी महिला को देश की राष्ट्रपति बनाया है और आपके वोट ने भारत में 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला है.” उन्होंने कहा, ”आपके वोट ने अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर बनाने के लिए 500 साल का प्रतीक्षा समाप्त कर दी. ” उन्होंने कहा, ”इस चुनाव में आपका एक वोट देश को तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाएगा और भारत को मजबूत बनाएगा.” खरगोन में मतदान लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में 13 मई को होगा.
पार्टी के एक प्रवक्ता ने बताया कि खरगोन पहुंचने से पहले मोदी ने इंदौर के देवी अहिल्याबाई होलकर हवाई अड्डे पर भाजपा के 30 बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से मुलाकात की.