भोपाल: मध्य प्रदेश में नौ लोकसभा सीटों पर मंगलवार को सुबह 11 बजे तक कुल 30.21 प्रतिशत मतदान हुआ। एक चुनाव अधिकारी ने यह जानकारी दी। शुरुआती मतदाताओं में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा शामिल हैं।

पार्टी सूत्रों ने कहा कि दिग्‍व‍िजय सिंह और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया दोनों क्रमश: राजगढ़ और गुना से लोकसभा चुनाव लड़ने के बावजूद अपने लिए वोट नहीं डाल पाएंगे क्योंकि सिंह भोपाल के और सिंधिया ग्वालियर के पंजीकृत मतदाता हैं ।

मप्र की विदिशा सीट से भाजपा उम्मीदवार और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीहोर जिले के अपने पैतृक गांव जैत में एक मतदान केंद्र पर अपनी पत्नी साधना सिंह और दो बेटों के साथ अपने मताधिकार का उपयोग किया।

इससे पहले आम चुनाव के तीसरे चरण में मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों में से नौ सीटों पर सुबह मतदान शुरू हो गया। नौ सीटों में से बैतूल में 32.65 प्रतिशत, ंिभड में 25.46 प्रतिशत, भोपाल में 27.46 प्रतिशत, गुना में 34.53 प्रतिशत, ग्वालियर में 28.55 प्रतिशत, मुरैना में 26.62 प्रतिशत, राजगढ़ में 34.81 प्रतिशत, सागर में 30.31 प्रतिशत और विदिशा में 32.64 प्रतिशत मतदान हुआ।

एक निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और शाम छह बजे 20,456 मतदान केंद्रों पर समाप्त होगा, जिनमें 1,043 केंद्र महिलाओं द्वारा प्रबंधित हैं। मध्य प्रदेश के संवेदनशील क्षेत्रों में से एक लोकसभा सीट ग्वालियर-चंबल क्षेत्र है। इस क्षेत्र के तहत आने वाले मुरैना में प्रशासन ने प्रत्याशियों को पुलिस कंट्रोल रूम में बैठा दिया है।

पुलिस ने भाजपा प्रत्याशी शिवमंगल सिंह तोमर, बसपा के रमेश चंद्र गर्ग और कांग्रेस प्रत्याशी सत्यपाल सिकरवार को पुलिस कंट्रोल रूम में बैठाया है। पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि ये सभी प्रत्याशी आपसी समझ के साथ मतदान के दौरान एक साथ बैठे हैं, जैसा कि पिछले चुनावों में यहां होता रहा है। उन्होंने कहा, वे सहमति से यहां आते हैं।

कुल मिलाकर 1.77 करोड़ मतदाता मुरैना, ंिभड (एससी-आरक्षित), ग्वालियर, गुना, सागर, विदिशा, भोपाल, राजगढ़ और बैतूल (एसटी-आरक्षित) सीटों से चुनाव लड़ रहे 127 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। ये नौ लोकसभा क्षेत्र 19 जिलों में फैले हुए हैं।

बैतूल (एसटी) निर्वाचन क्षेत्र में मतदान पहले 26 अप्रैल को, लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में होना था, लेकिन एक उम्मीदवार की मृत्यु होने के कारण इसे स्थगित कर दिया गया था।

भोपाल में सबसे ज्यादा 22 उम्मीदवार हैं, जबकि ंिभड में सबसे कम सात उम्मीदवार हैं। मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों में से 12 सीटों के लिए मतदान 19 और 26 अप्रैल को दो चरणों में संपन्न हुआ। शेष आठ सीटों पर 13 मई को चौथे चरण में मतदान होगा।