अमेठी. अमेठी लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार किशोरी लाल शर्मा ने मंगलवार को कहा कि अमेठी राहुल और प्रियंका गांधी की अमानत है और मेरे पास धरोहर के रूप में है, जब भी परिवार का आदेश होगा, वापस कर दूंगा. शर्मा आज अमेठी में मुसाफिरखाना में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे .

शर्मा ने कहा,”गांधी परिवार ने कभी अमेठी को राजनीति के लिहाज से नहीं देखा. अमेठी को अपना घर परिवार समझा और इस परिवार से मैं 1983 से एक सेवक के रूप में जुड़ा हुआ हूं . 22 साल की उम्र से मैं अमेठी में हूं.” कांग्रेस उम्मीदवार ने कहा,”मैं गांधी परिवार का सेवक हूं, अमेठी का सेवक हूं, और सेवक ही रहूंगा. परिवार का आदेश हुआ, मैं आप सबके बीच में चुनाव लड़ रहा हूं लेकिन मैं आज भी अपने को सेवक ही समझता हूं .” उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र और संविधान को बचाने का चुनाव है और पिछले पांच सालों में अमेठी को बहुत नुकसान झेलना पड़ा है .

उन्होंने आरोप लगाया कि सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, पेपर मिल, मेगा फूड पार्क जैसे तमाम संस्थान अमेठी से हटा दिए गए और अमेठी से ऊंचाहार रेल लाइन परियोजना को भी निरस्त कर दिया गया. किशोरी लाल ने कहा, ”देश में बेरोजगारी तेजी से बढ. रही है लेकिन युवाओं को अग्निवीर के नाम पर छला जा रहा है . धोखा दिया जा रहा है, उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है.” शर्मा ने लोगो से अपील की,”आप सब सोनिया जी के लिए राहुल जी के लिए प्रियंका जी के लिए कांग्रेस को मतदान करें लोकतंत्र और संविधान की रक्षा में अपना योगदान दे.” अमेठी लोकसभा सीट पर पांचवें चरण में 20 मई को मतदान हैं . यहां कांग्रेस प्रत्याशी किशोरी लाल शर्मा का मुकाबला भाजपा की उम्मीदवार और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से है.