चाईबासा/गुमला. कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि वह आदिवासियों के जल, जंगल और जमीन को उद्योगपतियों के हवाले करना चाहते हैं. झारखंड के चाईबासा में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए गांधी ने सत्ता में आने पर करोड़ों लोगों को लखपति बनाने का वादा किया. उन्होंने कहा कि यह लोकसभा चुनाव संविधान और आदिवासियों, गरीबों और पिछड़ों के अधिकारों को बचाने के लिए है. गांधी ने कहा कि ‘इंडिया’ गठबंधन के नेता संविधान को बचाने के लिए अपने जीवन का बलिदान देने के लिए तैयार हैं.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा, ह्लप्रधानमंत्री आदिवासियों के ‘जल, जंगल, जमीन’ को 14-15 उद्योगपतियों के हवाले करना चाहते हैं…उन्होंने अपने 10 साल के कार्यकाल में 22 लोगों को अरबपति बनाया…सत्ता में आने पर हम करोड़ों लखपति बनाएंगे और गरीब महिलाओं को सालाना एक लाख रुपये देंगे.ह्व गांधी ने बेरोजगार डिप्लोमा धारकों, स्नातकों को एक साल की प्रशिक्षुता प्रदान करने का वादा भी किया.

अग्निवीर योजना को खत्म करेंगे, जीएसटी में संशोधन करेंगे: राहुल गांधी
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि विपक्षी दलों के गठबंधन ‘इंडिया’ की सरकार बनने पर ‘अग्निवीर योनजा’ को समाप्त कर दिया जाएगा. उन्होंने आरोप लगाया कि इस योजना की शुरुआत सेना ने नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की है. राहुल गांधी ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) में संशोधन करने और आदिवासियों के लिए अलग सरना धार्मिक संहिता लाने का भी वादा किया.

झारखंड के गुमला में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा, ह्ल ‘इंडिया’ गठबंधन अग्निवीर योजना को खत्म करेगा, क्योंकि इस योजना को मोदी लेकर आएं हैं, न कि सेना लाई है. हम शहीदों में कोई भेदभाव नहीं करना चाहते. देश के लिए बलिदान देने वाले हर व्यक्ति को शहीद का दर्जा दिया जाना चाहिए, उसे पेंशन दी जानी चाहिए.ह्व उन्होंने कहा, ह्लभाजपा सरकार ने पांच कर स्लैब वाली गलत जीएसटी योजनाएं लागू कीं. हम इसमें संशोधन करेंगे और एक कर स्लैब बनाएंगे, जो न्यूनतम होगी. हम गरीबों पर कर का बोझ कम करेंगे.”

गांधी ने भाजपा नीत केंद्र पर आदिवासियों को धोखा देने का आरोप लगाया. उन्होंने मोदी पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का अपमान करने का भी आरोप लगाया. कांग्रेस नेता ने कहा, ह्लप्रधानमंत्री ने नए संसद भवन के उद्घाटन और अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा में आदिवासी समुदाय से आने वाली राष्ट्रपति मुर्मू को आमंत्रित नहीं कर उनका अपमान किया.ह्व उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, रेलवे आदि को उद्योगपतियों को सौंपने पर तुली हुई है.