इंदौर. मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने इंदौर के कांग्रेस उम्मीदवार अक्षय कांति बम के ऐन मौके पर दल-बदल को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर मंगलवार को तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा कि मुंबई के दाऊद इब्राहिम गिरोह की तरह इंदौर में पनपे ”राजनीतिक माफिया” ने इस घटनाक्रम के जरिये स्थानीय मतदाताओं के साथ बेहद घृणित अपराध किया है.

बम ने इंदौर में कांग्रेस को तगड़ा झटका देते हुए नामांकन वापसी की आखिरी तारीख 29 अप्रैल को अपना पर्चा वापस ले लिया और वह इसके तुरंत बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए थे. इसके साथ ही भाजपा का मजबूत गढ. कही जाने वाली इस सीट पर कांग्रेस की चुनावी चुनौती समाप्त हो गई जहां वह पिछले 35 साल से जीत की बाट जोह रही है.

पटवारी ने शहर कांग्रेस कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ”हमने अब तक इंदौर में भू- माफिया, शराब माफिया, शिक्षा माफिया आदि के नाम पढ.े और सुने थे. अब शहर में उसी तरह राजनीतिक माफिया भी पनप गया है, जिस तरह कभी मुंबई में दाऊद इब्राहिम का गिरोह चलता था और यह गिरोह गैंगवॉर जैसी आपराधिक वारदातों में शामिल होता था.” उन्होंने कहा कि खुद को और दलों से अलग बताने वाली भाजपा ने ऐन वक्त पर इंदौर के कांग्रेस प्रत्याशी का दलबदल कराकर स्थानीय मतदाताओं के साथ बेहद घृणित अपराध किया है.

इंदौर, पटवारी का गृह क्षेत्र है जहां लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के तहत 13 मई को मतदान होना है. उन्होंने कहा कि इंदौर का हर व्यक्ति अहसास कर रहा है कि ”राजनीतिक माफिया” ने कांग्रेस प्रत्याशी का ”अपहरण” कर लिया है और “यह पाप इंदौर के 90 प्रतिशत लोगों को पसंद नहीं आ रहा है.” प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ”कांग्रेस इंदौर की जनता से हाथ जोड़कर कहना चाहती है कि अगर उसे लगता है कि राजनीतिक माफिया ने कांग्रेस प्रत्याशी का अपहरण करके पाप किया है, तो वह इस बार भाजपा को सबक सिखाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर नोटा (उपरोक्त में से कोई नहीं) को चुने.”

पटवारी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे अलग-अलग कार्यक्रमों, सभाओं और सोशल मीडिया के जरिये स्थानीय मतदाताओं से ”नोटा” के इस्तेमाल का अनुरोध करें. उन्होंने कहा,”भले ही इस बार इंदौर में हमारा प्रत्याशी चुनावी मैदान में नहीं है, लेकिन मतदान के दिन हर बूथ के पास कांग्रेस कार्यकर्ता टेबल-कुर्सी लगाकर बैठें और इस भाव से काम करें कि नोटा ही हमारा प्रत्याशी है.” प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने दावा किया कि लोकसभा चुनाव में मतदान प्रतिशत में गिरावट नरेन्द्र मोदी सरकार की विदाई का संकेत है. उन्होंने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा, ”पहले भाजपा मध्यप्रदेश की सभी 29 लोकसभा सीट जीतने की बात करती थी, पर अब वह किसी मेमनी (मादा मेमना) की तरह हो गई है और उसके हलक से कोई शब्द नहीं निकल रहा है.” पटवारी ने दावा किया कि कांग्रेस इस बार सूबे में 29 में से 10 से 12 लोकसभा सीट जीतेगी.

उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि इंदौर नगर निगम ने शहर में ड्रेनेज की लाइन डालने के नाम पर ठेकेदारों को 150 करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया, जबकि हकीकत में यह काम हुआ ही नहीं. पटवारी ने दावा किया कि अगर बारीकी से जांच की जाए, तो इस घोटाले का आंकड़ा बढ़कर 2,000 करोड़ रुपये तक पहुंच सकता है.”