दुर्ग. छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में एक व्यक्ति ने कथित तौर पर अंधविश्वास के कारण अपनी जीभ काट ली. पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले के अंजोरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत थनौद गांव में 33 वर्षीय राजेश्वर निषाद ने अपनी जीभ काट ली. निषाद को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

अंजोरा चौकी के प्रभारी राम नारायण ध्रुव ने बताया कि ग्रामीणों ने जानकारी दी है कि निषाद आज सुबह लगभग आठ बजे गांव के तालाब में पहुंचा और एक पत्थर के करीब बैठकर कुछ मंत्र पढ़ने लगा. बाद में उसने अचानक चाकू से अपनी जीभ काट ली और उसे पत्थर के करीब रख दिया.

ध्रुव ने बताया कि जब ग्रामीणों को घटना की जानकारी मिली तो उन्होंने सरकारी एंबुलेंस सेवा और पुलिस को इसकी की सूचना दी.
पुलिस अधिकारी ने बताया कि निषाद को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. ग्रामीणों से मिली जानकारी के मुताबिक निषाद ने अंधविश्वास के कारण इस घटना को अंजाम दिया है. वह इच्छापूर्ति के लिए भगवान शिव को अपनी जीभ चढ़ाना चाहता था. उन्होंने बताया कि निषाद के तीन बच्चे हैं तथा उसकी पत्नी गूंगी है. पुलिस बच्चों और ग्रामीणों से पूछताछ कर रही है. पुलिस ने निषाद द्वारा इस्तेमाल किया गया चाकू भी बरामद कर लिया है. ध्रुव ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है तथा मामले की जांच की जा रही है.