नयी दिल्ली. एयर इंडिया एक्सप्रेस के चालक दल के सदस्यों के एक वर्ग ने हड़ताल वापस लेने और काम पर लौटने का निर्णय किया है. वहीं एयरलाइन प्रबंधन ने चालक दल के 25 सदस्यों की बर्खास्तगी का पत्र वापस लेने पर सहमति जतायी है. एयरलाइन के चालक दल के सदस्यों के मुद्दों पर गौर करने के आश्वासन के बाद यह कदम उठाया गया है.

टाटा समूह के स्वामित्व वाली एयरलाइन ने मंगलवार रात से 170 उड़ानों को रद्द किया है. एयरलाइन में कथित कुप्रबंधन के विरोध में चालक दल के सदस्यों के एक वर्ग के ‘बीमार’ होने की सूचना के बाद एयर इंडिया एक्सप्रेस ने उड़ानों को रद्द किया. राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार को मुख्य श्रम आयुक्त (केंद्रीय) के कार्यालय में चालक दल के सदस्यों के प्रतिनिधियों और एयरलाइन प्रतिनिधियों के बीच सुलह बैठक के दौरान हड़ताल और बर्खास्तगी पत्र वापस लेने पर सहमति बनी.

यह बैठक एयर इंडिया एक्सप्रेस एम्प्लॉइज यूनियन (एआईएैईयू) और एयरलाइन प्रबंधन के प्रतिनिधियों के बीच लगभग पांच घंटे तक चली. यह यूनियन आरएसएस से संबद्ध भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) से जुड़ी हुई है. बैठक के बाद बीएमएस के अखिल भारतीय सचिव गिरीश चंद्र आर्य ने कहा कि एयर इंडिया एक्सप्रेस के 25 चालक दल के सदस्यों की बर्खास्तगी वापस ले ली गई है. उन्होंने कहा कि दोनों पक्ष मुद्दों पर चर्चा करेंगे और 28 मई को फिर बैठक होगी.

दोनों पक्षों के हस्ताक्षर किये गये दस्तावेज के अनुसार विस्तृत चर्चा और सुलह अधिकारी तथा मुख्य श्रम आयुक्त की अपील के बाद, यूनियन प्रतिनिधि इस बात पर सहमत हुए कि चालक दल के जो भी सदस्य बीमारी का हवाला देकर छुट्टी पर गये हैं, वे स्वास्थ्य प्रमाणपत्र के साथ काम पर लौटेंगे.

मुख्य श्रम आयुक्त (केंद्रीय) की अपील पर प्रबंधन बीमार होने की सूचना देने के कारण सात और आठ मई, 2024 को बर्खास्त किये गये चालक दल के 25 सदस्यों को तुरंत बहाल करने पर सहमत हुआ. इसमें कहा गया है, ”प्रबंधन सेवा नियमों के अनुसार इन चालक दल के मामलों की समीक्षा करेगा.” दस्तावेज के अनुसार एयरलाइन के प्रतिनिधियों ने आश्वासन दिया कि प्रबंधन के समक्ष और सुलह कार्यवाही के दौरान उठाए गए सभी मुद्दों पर ध्यान दिया जाएगा और उनका निपटान किया जाएगा.