हैदराबाद. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी और उनके भाई अकबरुद्दीन पर तीखा हमला करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की नेता नवनीत राणा ने कहा कि अगर ”15 सेकंड के लिए पुलिस को ड्यूटी से हटा दें तो दोनों भाइयों को पता नहीं चलेगा कि वे कहां से आए और कहां गए.” राणा का बयान एआईएमआईएम विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी के 2013 में दिए गए उस विवादित भाषण के जवाब में आया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर पुलिस को हटा दिया जाए तो देश में ”हिन्दू-मुस्लिम अनुपात” को बराबर लाने में उन्हें केवल ”15 मिनट” लगेंगे.

महाराष्ट्र की अमरावती लोकसभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार राणा ने कहा, ”छोटा (अकबरुद्दीन) बोलता है कि पुलिस को 15 मिनट के लिए हटाओ तो दिखाएंगे कि हम क्या कर सकते हैं. मेरा कहना है तुम 15 मिनट लगाओगे पर हमको 15 सेकंड लगेंगे. अगर 15 सेकंड पुलिस को हटाया तो छोटे और बड़े को यह पता नहीं लगेगा- कहां से आए और कहां गए.” उन्होंने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर टिप्पणी करते हुए एक वीडियो क्लिप साझा किया है.

राणा बुधवार को तेलंगाना में हैदराबाद लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार माधवी लता और अन्य के समर्थन में प्रचार कर रही थीं.
उनकी टिप्पणियों के बारे में पूछे जाने पर एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से कहना चाहेंगे कि वह एक घंटा दें.

ओवैसी ने संवाददाताओं से कहा, ”मोदी जी के पास सत्ता है, 15 सेकंड नहीं बल्कि एक घंटा लीजिए. हम भी देखना चाहेंगे कि कोई इंसानियत बची है या नहीं. कौन डरा हुआ है? आपको कौन रोक रहा है? दिल्ली में प्रधानमंत्री आपके हैं. आरएसएस आपका है. सब कुछ आपका है. हमें बताएं कि कहां आना है. हम अवश्य आएंगे.” नवनीत राणा की कथित टिप्पणी पर कि एआईएमआईएम को वोट देने पर वोट पाकिस्तान को जाएगा, ओवैसी ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भाजपा को देश की विविधता और बहुलवाद से नफरत है और आरएसएस की विचारधारा को हराना चाहिए.

ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी 2014 में अचानक अफगानिस्तान से पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के आवास पर पहुंच गए थे. उन्होंने कहा, ”यह क्या था?” उन्होंने कहा कि मोदी ने मुसलमानों को घुसपैठिया बताया और यह भी कहा कि मुसलमान अधिक बच्चे पैदा करते हैं और वही भाषा इस्तेमाल की जा रही है. जब उनसे कहा गया कि विवाद उनके भाई अकबरुद्दीन की ’15 मिनट’ वाली टिप्पणी से शुरू हुआ, तो उन्होंने कहा कि यह मामला अभी अदालत में है. ओवैसी ने नवनीत के बयान के संदर्भ में कहा, ”हम कह रहे हैं कि आप करिए. कहते क्यों हैं? हम यहां बैठे हैं… आपको ये करना पड़ेगा.”