नयी दिल्ली. कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चुनौती दी कि वह केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) और ईडी जैसी अपनी जांच एजेंसियों का इस्तेमाल कर उन आरोपों की जांच कराएं, जो उन्होंने उद्योगपतियों अंबानी और अडाणी के खिलाफ लगाए हैं कि वे ”टेम्पो से काला धन बांट रहे हैं”. कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने दावा किया कि प्रधानमंत्री को कभी इतना कमजोर और हताश नहीं देखा गया कि वह देश में भ्रष्टाचार के बारे में बड़े खुलासे करें और अपने ही मित्रों को बेनकाब करें.

वह बुधवार को प्रधानमंत्री द्वारा लगाए गए आरोप का जिक्र कर रही थीं, जिन्होंने लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान पहली बार कांग्रेस पर ”अंबानी और अडाणी” के साथ एक ”सौदा” करने का आरोप लगाया था. प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया था कि पिछले पांच साल से सुबह उठते ही ‘अंबानी और अडाणी के नाम की माला जपने वाले कांग्रेस के शहजादे’ ने उनसे ‘कितना माल उठाया’ है जो लोकसभा चुनाव घोषित होते ही उन्होंने उन्हें ‘गाली देना’ बंद कर दिया.

उन्होंने कहा था, ”जरा ये शहजादे घोषित करे कि इस चुनाव में अंबानी अडाणी से कितना माल उठाया है? काले धन के कितने बोरे भर के रुपये मारे हैं? क्या टेम्पो भर के नोट कांग्रेस के लिए पहुंचे हैं क्या? क्या सौदा हुआ है कि आपने रातों-रात अंबानी, अडाणी को गाली देना बंद कर दिया? जरूर दाल में कुछ काला है.” श्रीनेत ने कहा कि राहुल गांधी पिछले 10 साल से एक ही बात कह रहे हैं कि बड़े कारोबारियों के पास काला धन है लेकिन प्रधानमंत्री उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने साहस जुटाकर इस बात को स्वीकार किया है. उन्होंने पूछा कि प्रधानमंत्री इन आरोपों की जांच के लिए अपनी सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और आयकर जैसी एजेंसियों का इस्तेमाल कब करेंगे.

श्रीनेत ने कहा, ”इस देश का प्रधानमंत्री इतना कमजोर, लाचार और हताश पहले कभी नहीं हुआ. कल नरेन्द्र मोदी ने हिम्मत दिखाई और भ्रष्टाचार पर बड़ा खुलासा किया.” उन्होंने कहा, ”प्रधानमंत्री को यह साहस राहुल गांधी को देखकर मिला है, जो निडर होकर भ्रष्टाचार को उजागर कर रहे हैं, भ्रष्टाचारियों के खिलाफ जोरदार तरीके से बोल रहे हैं और अडाणी तथा अंबानी को बेनकाब कर रहे हैं. इसी साहस के दम पर प्रधानमंत्री मोदी ने भ्रष्टाचार पर इतना बड़ा खुलासा किया.” श्रीनेत ने आरोप लगाया कि अपनी होने वाली हार को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए हैं.

उन्होंने पत्रकारों से कहा, ”अब जब खुलासा ही हो गया तो डर किस बात का? इसकी जांच कराओ…अपने दोस्तों के यहां छापेमारी कराओ. विडम्बना यह है कि प्रधानमंत्री आरोप लगा रहे हैं लेकिन जांच एजेंसियां और मीडिया निस्तब्ध है. डरो मत… इसकी जांच कराओ. हम आपका समर्थन करेंगे.” श्रीनेत ने यह भी कहा कि कांग्रेस लोगों को आश्वस्त करना चाहती है कि उन्हें डरना नहीं चाहिए. उन्होंने दावा किया, ”नरेन्द्र मोदी ने 22 अरबपति बनाए. हम करोड़ों ‘लखपति’ बनाएंगे और यह हमारा वादा है.” कांग्रेस नेता ने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी ने भ्रष्टाचार पर जो खुलासे किये हैं उससे पूरी भाजपा और सरकार में हड़कंप मच गया है.

उन्होंने दावा किया कि वे अधिकारी भी डरे हुए हैं जो मोदी के निर्देश पर काम कर रहे हैं और ये सब समझ गए हैं कि सरकार बदलने वाली है. उन्होंने कहा, ”दीवार पर स्पष्ट रूप से लिखा है कि न तो भाजपा चार जून को केंद्र में सरकार बनाने जा रही है और न ही नरेन्द्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बन रहे हैं.”