विरुधुनगर. शिवकाशी में बृहस्पतिवार को एक पटाखा कारखाने में आग लगने से पांच महिलाओं समेत नौ कर्मचारियों की मौत हो गई जबकि 10 अन्य घायल हो गए. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी. पुलिस ने कहा कि विरुधुनगर जिले के शिवकाशी के पास सेंगमालापट्टी में पटाखा कारखाने में हुई दुर्घटना में पांच महिलाओं समेत नौ लोगों की मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि जिन सात कमरों में पटाखे रखे हुए थे वे पूरी तरह जल गए.

पुलिस और अग्निशमन सेवा के र्किमयों ने घायलों को शिवकाशी के सरकारी अस्पताल पहुंचाया. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आग लगने की वजह का पता लगाया जा रहा है और कारखाने के पास जरूरी लाइसेंस उपलब्ध था. घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि शिवकाशी के पास पटाखा फैक्टरी में विस्फोट के कारण कई लोगों की मौत के बारे में जानकर उन्हें काफी दुख हुआ.

उन्होंने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ह्लमैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त करती हूं. मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं.ह्व उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने भी दुखद अग्नि हादसे में लोगों की मौत पर दुख व्यक्त किया और शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की और घायलों के ठीक होने के लिए प्रार्थना की.

घटना पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए तमिलनाडु के राज्यपाल आर.एन. रवि ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ह्लमृतकों के परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना.ह्व तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन ने घटना पर शोक व्यक्त करते हुए जिले के अधिकारियों को घायलों को उचित चिकित्सा देखभाल प्रदान करने और लोगों की जान बचाने का निर्देश दिया.
मुख्यमंत्री स्टालिन ने कहा कि दुर्घटना की जानकारी मिलते ही उन्होंने जिला कलेक्टर को तुरंत बचाव अभियान शुरू करने का निर्देश दिया.

उन्होंने कहा कि यह पता चला है कि 10 से अधिक लोग घायल हुए हैं और उन्हें चिकित्सा सहायता की आवश्यकता है. स्टालिन ने यहां एक विज्ञप्ति में कहा, ह्लमैंने अधिकारियों को घायलों के लिए उचित जीवनरक्षक उपचार सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है.ह्व उन्होंने कहा, राज्य सरकार (चार जून तक आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण) निर्वाचन आयोग से उचित सहमति प्राप्त करने के बाद प्रभावित परिवारों को राहत देगी. उन्होंने शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना और सहानुभूति व्यक्त की.
विरुधुनगर के पुलिस अधीक्षक के. फिरोज खान अब्दुल्ला ने कहा, ह्लहादसा आज अपराह्न 3 बजे हुआ. नौ श्रमिकों की मौत हो गई और 10 घायल हो गए. आग लगने की घटना के कारणों की प्रारंभिक जांच जारी है.ह्व शिवकाशी में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि कारखाना मालिक के पास लाइसेंस है, जो 2026 तक वैध है.

यह पूछे जाने पर कि कारखाने में आग कैसे लगी, एसपी ने कहा, ह्लयह अप्रशिक्षित श्रमिकों के काम करने या कमरे में भीड़भाड़ के कारण हो सकता है. एक फोरमैन को काम की निगरानी करनी चाहिए.ह्व इस बीच, झारखंड के राज्यपाल सी.पी. राधाकृष्णन, ओडिशा के राज्यपाल रघुबर दास और भाजपा के राज्य प्रमुख के. अन्नामलाई ने भी मजदूरों की मौत पर शोक व्यक्त किया.