कोटा. ”मैं आगे पढ़ाई नहीं करना चाहता. मैं कोई गलत कदम नहीं ऊठाऊंगा. मैं पांच साल के लिए घर छोड़ रहा हूं.” पीजी से लापता होने वाले 19 साल के नीट अभ्यर्थी ने यहां से माता-पिता को यह संदेश भेजा है. पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) योगेश शर्मा ने बताया कि राजस्थान के गंगापुर सिटी जिले के रहने वाले राजेंद्र प्रसाद मीणा पिछले तीन साल से एक कोचिंग संस्थान में पढ़ाई कर रहा था.

डीएसपी ने बताया कि राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) देने के एक दिन बाद छह मई को मीणा ने अपने माता-पिता को एक संदेश भेजा, जिसमें उसने कहा कि वह आगे नहीं पढ़ना चाहता है और पांच साल के लिए घर छोड़ रहा है. छात्र के हवाले से पुलिस अधिकारी ने कहा कि उसने अपने संदेश में कहा है कि कोई उससे संपर्क न करे क्योंकि वह सिम कार्ड तोड़ देगा और फोन को भी बेच देगा. उसके पास आठ हजार रुपये हैं और अगर उसे जरूरत होगी तो वह परिवार एवं अन्य रिश्तेदारों से संपर्क करेगा.

डीएसपी ने बताया कि मीणा ने अपनी मां से कहा कि वह उसकी चिंता न करें और भरोसा दिलाया कि वह कोई गलत कदम नहीं उठाएगा. इसके बाद मीणा के परिजन पेइंग गेस्ट (पीजी) पहुंचे और विज्ञान नगर पुलिस थाने में उसके लापता होने की शिकायत दर्ज कराई. डीएसपी ने बताया कि जांच के दौरान पीजी के मालिक और देखभाल करने वाली कल्पना शर्मा ने बताया कि कमरा खाली करने से पहले मीणा ने अपना सभी बकाया चुका दिया और उसने उन्हें बताया कि वह अपने घर जा रहा है. शर्मा ने कहा कि मीणा का पता लगाने की कोशिश की जा रही है.