गोमा: पूर्वी कांगो में विस्थापितों के दो शिविरों पर पिछले सप्ताह हुई बमबारी में मरने वालों की संख्या शुक्रवार को बढक़र लगभग 35 हो गई, जबकि दो लोगों की हालत बेहद गंभीर है। एक स्थानीय अधिकारी ने यह जानकारी दी।

उत्तर किवु राज्य में शिविरों पर हमले हुए थे। स्थानीय नेता एरिक बवानापुवा ने शुक्रवार को एक साक्षात्कार में मृतकों की संख्या के बारे में जानकारी दी।

पूर्वी कांगो के मुगुंगा और लैक वर्ट शिविरों पर बमबारी के लिए कांगो की सेना और विद्रोही समूह ‘एम23’ एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने इस हमले के आरोप ‘एम23’ और पड़ोसी देश रवांडा की सेना पर लगाएं हैं।

एम23 एक सशस्त्र समूह है जिसमें तुत्सी जनजाति के लोग शामिल हैं। ये समूह कांगो की सेना से 12 साल पहले अलग हुआ था। कांगो के राष्ट्रपति फेलिक्स टी ने पड़ोसी देश रवांडा पर एम23 विद्रोहियों का समर्थन कर कांगो में अस्थिरता फैलाने का आरोप लगाया है।