दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान ऋषभ पंत को आईपीएल की गवर्निंग बॉडी ने एक मैच के लिए निलंबित कर दिया है। वह अगले मैच में टीम का हिस्सा नहीं होंगे। बोर्ड ने स्लो ओवर रेट की वजह से उन्हें निलंबित किया है। राजस्थान के खिलाफ मैच में दिल्ली के स्लो ओवर रेट की वजह से कप्तान पर 30 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। यह तीसरी बार है जब पंत पर स्लो ओवर रेट की वजह से कार्रवाई की गई है।

पहले भी लग चुका है जुर्माना
इससे पहले 31 मार्च को चेन्नई और तीन अप्रैल को कोलकाता के खिलाफ मैच के दौरान स्लो ओवर रेट की वजह से उन पर जुर्माना लगाया गया था। हालांकि, अपनी पिछली गलती से उन्होंने सबक नहीं लिया और सात मई को राजस्थान के खिलाफ एक बार फिर पुरानी गलती दोहराई, जिस पर अब बीसीसीआई ने उनके खिलाफ सख्त एक्शन लिया है। दिल्ली अपना 13वां मुकाबला आरसीबी के खिलाफ खेलेगी। इस मैच में विकेटकीपर बल्लेबाज खेलते हुए नजर नहीं आएंगे।

आईपीएल का बयान
आईपीएल की तरफ से जारी किए बयान में कहा, “दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान ऋषभ पंत पर जुर्माना लगाया गया है और उन्हें आईपीएल आचार संहिता का उल्लंघन करने के लिए एक मैच के लिए निलंबित भी कर दिया गया है। उनकी टीम ने राजस्थान के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2024 के मैच 56 के दौरान धीमी ओवर गति बनाए रखी थी। न्यूनतम ओवर- रेट अपराधों से संबंधित आईपीएल की आचार संहिता के तहत यह उनकी टीम का सीज़न का तीसरा अपराध था, इसलिए ऋषभ पंत पर 30 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया और एक मैच के लिए निलंबित कर दिया गया है। इम्पैक्ट प्लेयर सहित प्लेइंग इलेवन के बाकी सदस्यों पर व्यक्तिगत रूप से 12 लाख रुपये या उनकी संबंधित मैच फीस का 50 प्रतिशत, जो भी कम हो उस रकम का जुर्माना लगाया गया।”

दिल्ली की अपील खारिज
इस बयान में आगे कहा गया है कि, “आईपीएल आचार संहिता के अनुच्छेद आठ के अनुसार, दिल्ली कैपिटल्स ने मैच रेफरी के फैसले को चुनौती देते हुए अपील दायर की। इसके बाद अपील को समीक्षा के लिए बीसीसीआई के पास भेजा गया। मामले की सुनवाई की गई और यह पुष्टि की गई कि मैच रेफरी का निर्णय अंतिम और बाध्यकारी है।” ऐसे में साफ है कि दिल्ली की अपील खारिज हो गई है।