अमरावती/लखनऊ. देश में लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के तहत उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना समेत 10 राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों की 96 लोकसभा सीट पर सोमवार को मतदान होगा. इस चरण में समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, तृणमूल कांग्रेस की नेता महुआ मोइत्रा और एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी जैसे कई प्रमुख उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का फैसला होगा.

आंध्र प्रदेश में 13 मई को सभी 25 लोकसभा सीट पर और सभी 175 विधानसभा सीट पर भी चुनाव होगा. राज्य में वाईएसआरसी, कांग्रेस नीत ‘इंडिया’ गठबंधन और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है. राज्य में राजग में भाजपा, चंद्रबाबू नायडू की तेदेपा और पवन कल्याण की जनसेना पार्टी शामिल हैं. इस चरण में ओडिशा की 28 विधानसभा सीट पर भी मतदान होना है.

लोकसभा सीटों के लिए कुल 1,717 उम्मीदवार मैदान में हैं और इस चरण में 8.73 महिलाओं सहित 17.70 करोड़ से अधिक पात्र मतदाताओं के लिए 1.92 लाख मतदान केंद्रों पर 19 लाख से अधिक मतदानकर्मी तैनात किए गए हैं. इस चरण में कुछ प्रमुख उम्मीदवारों में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (कन्नौज, उप्र) और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (बेगूसराय, बिहार), नित्यानंद राय (उजियारपुर, बिहार) और रावसाहेब दानवे (जालना, महाराष्ट्र) शामिल हैं.

इनके अलावा कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी और तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार एवं पूर्व क्रिकेटर यूसुफ पठान (दोनों बहरामपुर, पश्चिम बंगाल से), भाजपा की पंकजा मुंडे (बीड, महाराष्ट्र), एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (हैदराबाद-तेलंगाना) और आंध्र प्रदेश में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष वाई एस र्शिमला (कडप्पा) चुनाव मैदान में हैं.

केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्रा उत्तर प्रदेश की खीरी सीट से हैट्रिक बनाने की जुगत में हैं. उनका बेटा 2021 के लखीमपुरी हिंसा कांड में आरोपी है. तृणमूल कांग्रेस की महुआ मोइत्रा भी पश्चिम बंगाल की कृष्णानगर सीट से फिर संसद पहुंचने के प्रयास में लगी हुई हैं. उन्हें प्रश्न पूछने के बदले नकदी लेने के मामले में लोकसभा से निष्कासित कर दिया गया था.

अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा आसनसोल से दोबारा चुनाव लड़ रहे हैं, जहां उनका मुकाबला भाजपा के वरिष्ठ नेता एस एस अहलूवालिया से है. भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के पूर्व अध्यक्ष दिलीप घोष और तृणमूल कांग्रेस के कीर्ति आजाद बर्धमान-दुर्गापुर से चुनाव लड़ रहे हैं. लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण तक अब तक 543 में से 283 सीट पर मतदान संपन्न हो चुका है.

तेलंगाना की 17, आंध्र प्रदेश की 25, उत्तर प्रदेश की 13, बिहार की पांच, झारखंड की चार, मध्य प्रदेश की आठ, महाराष्ट्र की 11, ओडिशा की चार और पश्चिम बंगाल की आठ एवं जम्मू कश्मीर की एक लोकसभा सीट (श्रीनगर) पर सोमवार को मतदान होगा.
श्रीनगर लोकसभा सीट के चुनाव में लगभग 17.48 लाख मतदाता मतदान करने के पात्र हैं और 24 उम्मीदवार मैदान में हैं. अगस्त 2019 में अनुच्छेद 370 के ज्यादात प्रावधानों को हटाये जाने के बाद कश्मीर में यह पहला बड़ा चुनाव है.

नेशनल कॉन्फ्रेंस ने शिया नेता आगा सैयद रुहुल्ला मेहदी को चुनाव मैदान में उतारा है, जबकि पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से युवा नेता वहीद परा मैदान में हैं. अपनी पार्टी ने अशरफ मीर को अपना प्रत्याशी बनाया है जबकि भाजपा ने उम्मीदवार नहीं उतारा है.
भाजपा नीत राजग के इन 96 लोकसभा सीट में से 40 से अधिक पर वर्तमान में सांसद हैं. लोकसभा चुनाव के पहले तीन चरणों में क्रमश? 66.14 प्रतिशत, 66.71 प्रतिशत और 65.68 प्रतिशत मतदान हुआ था.

निर्वाचन आयोग का मानना है कि 2019 के संसदीय चुनावों की तुलना में पिछले तीन चरणों में कम मतदान का एक कारण लू की स्थिति है. मतदान का सामान्य समय सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक है. इलाके, सूर्यास्त के समय और सुरक्षा स्थिति को ध्यान में रखते हुए इनमें मतदान के समय में कटौती की जाती है. लोकसभा चुनाव के इस चौथे चरण में आरक्षण, तुष्टिकरण नीति, भ्रष्टाचार और रोजगार जैसे मुद्दे चुनाव प्रचार में छाए रहे.

उत्तर प्रदेश की 13 लोकसभा सीट में से, कन्नौज में सपा प्रमुख अखिलेश यादव और भाजपा के मौजूदा सांसद सुब्रत पाठक के बीच कड़ी टक्कर है, जबकि उन्नाव में भाजपा के मौजूदा सांसद साक्षी महाराज का मुकाबला सपा की अनु टंडन से है. अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को होने वाले मतदान के लिए सभी व्यवस्थाएं कर ली गई हैं. उन्होंने कहा, ”चौथे चरण में कुल 17,47,810 मतदाताओं को नामांकित किया गया है, जिनमें 8,75,938 पुरुष, 8,71,808 महिलाएं और 64 थर्ड जेंडर के मतदाता शामिल हैं. लगभग 11,682 दिव्यांग व्यक्ति और 100 वर्ष से अधिक आयु के 705 मतदाता हैं.” श्रीनगर, गांदेरबल, पुलवामा, बडगाम और शोपियां जिलों के कुछ हिस्सों में 2,135 मतदान केंद्र बनाए गए हैं.

आंध्र प्रदेश में सभी 25 लोकसभा सीट पर और सभी 175 विधानसभा सीट पर भी चुनाव हैं. आंध्र प्रदेश में वाईएसआरसीपी विधानसभा की सभी 175 और लोकसभा की 25 सीट पर चुनाव लड़ रही है. राजग में तेदेपा 144 विधानसभा सीट एवं 17 लोकसभा सीट पर, जबकि भाजपा छह लोकसभा सीट एवं 10 विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ रही है. जनसेना दो लोकसभा सीट और 21 विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ रही है.

वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में वाईएसआरसीपी ने 22, जबकि चंद्रबाबू की पार्टी ने तीन लोकसभा सीट जीती थीं. मध्य प्रदेश की आठ सीट पर मतदान के साथ ही राज्य की सभी 29 सीट पर चुनाव संपन्न हो जायेगा. देश में अगले तीन चरणों का मतदान 20 मई, 25 मई और एक जून को होगा. मतगणना चार जून को होगी.