धुले. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने रविवार को लोगों से पार्टी के लिए वोट करने की अपील करते हुए दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के तीसरे कार्यकाल का मतलब होगा कि गरीबों, दलितों और आदिवासियों के साथ “गुलामों की तरह व्यवहार” होगा. खरगे ने महाराष्ट्र के धुले निर्वाचन क्षेत्र में एक रैली को संबोधित करते हुए मतदाताओं से लोकतंत्र और संविधान को बचाने के लिए कांग्रेस पार्टी को चुनने की अपील की. कांग्रेस ने धुले लोकसभा सीट से पूर्व विधायक शोभा बच्चव को मैदान में उतारा है.

उन्होंने कहा, ह्लआजादी से पहले गरीबों, दलितों और आदिवासियों के साथ गुलामों जैसा व्यवहार किया जाता था. यदि आप मोदी और शाह को तीसरा कार्यकाल देंगे तो वही स्थिति दोहराई जाएगी. हम फिर से गुलाम बन जायेंगे.” उत्तर महाराष्ट्र के धुले में आम चुनाव के पांचवें चरण में 20 मई को मतदान होगा. यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सुभाष भामरे को उम्मीदवार बनाया है.
खरगे ने कहा, ह्लआपको अपने लिए और अपने लोगों के लिए वोट देना होगा. हमें संविधान बचाना है. यह चुनाव देश के भविष्य को आकार देगा, इसलिए यह एक महत्वपूर्ण चुनाव है.ह्व उन्होंने कहा कि यदि कोई संविधान नहीं होगा, तो “आपको बचाने वाला कोई नहीं होगा.”

उन्होंने दावा किया कि “आरएसएस (राष्ट्रीय स्यंसेवक संघ) प्रमुख मोहन भागवत ने 2015 में कहा था कि संविधान को बदला जाना चाहिए.” उन्होंने कहा कि बाद में भाजपा के कई सांसदों और नेताओं ने भी इसी तरह के बयान दिये. खरगे ने प्रधानमंत्री मोदी पर “झूठ फैलाने” का आरोप भी लगाया. खरगे ने कहा कि मोदी ने सीना ठोक ठोक कर कहा था कि विदेशों से काला धन वापस लाएंगे लेकिन कभी अपना ये वादा पूरा नहीं किया. खरगे ने कहा, ”उन्होंने (मोदी) हर साल दो करोड़ नौकरियां देने का दावा किया, लेकिन ऐसा कभी किया नहीं. उनके दावों के अनुसार, किसानों की आय बढ़़ाने के बजाय, उनकी गलत नीतियों के चलते किसानों की उत्पादन लागत बढ़़ गई. इसलिए मोदी को सत्ता से हटाया जाना चाहिए.”