काठमांडू. नेपाल के प्रसिद्ध पर्वतारोही कामी रीता शेरपा ने रविवार को दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर 29वीं बार चढ़ाई की. इस तरह उन्होंने एवरेस्ट पर सबसे अधिक बार चढ़ने का अपना ही रिकॉर्ड तोड़कर इतिहास रच दिया. पर्यटन और नागरिक उड्डयन मंत्रालय में पर्यटन विभाग के निदेशक राकेश गुरुंग के अनुसार, अनुभवी पर्वतारोही शेरपा (54) रविवार को स्थानीय समयानुसार सुबह सात बजकर 25 मिनट पर 8,849 मीटर ऊंची चोटी पर पहुंचे थे.

नेपाल के ‘सेवन समिट ट्रेक्स’ के एक वरिष्ठ अधिकारी थानी गुरगैन ने बताया कि सेवन समिट ट्रेक्स ने इस पर्वतारोहण कार्यक्रम का आयोजन किया था और इसमें 20 पर्वातारोही शामिल हुए थे. उन्होंने रविवार की सुबह एवरेस्ट फतह किया. ‘सेवन समिट ट्रेक्स’ ने एक बयान जारी कर बताया, ”कामी सहित सेवन समिट ट्रेक्स के कम से कम 20 पर्वतारोहियों ने रविवार सुबह माउंट एवरेस्ट पर सफलतापूर्वक चढ़ाई पूरी की.” पर्वतारोही दल में नेपाल के 13 पर्वतारोहियों के अलावा शेष अमेरिका, कनाडा और कजाकिस्तान से थे.
कामी ने 1994 में पहली बार एवरेस्ट पर चढ़ाई की थी.

पिछले साल उन्होंने एक ही सीजन में 27वीं और 28वीं बार एवरेस्ट फतह किया था और इस तरह वह एवरेस्ट पर सबसे ज्यादा बार चढ़ने वाले शख्स बन गये थे. ‘रिपब्लिका’ समाचार पत्र के अनुसार, पिछले साल सोलुखुम्बु के पसंद दावा शेरपा ने 27वीं बार माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई की थी, लेकिन इस सीजन में उन्होंने चढ़ाई करने के बारे में अभी फैसला नहीं किया है. ‘सेवन समिट ट्रेक्स’ के वरिष्ठ पर्वतीय गाइड कामी का जन्म 17 जनवरी 1970 को हुआ था. कामी ने सबसे पहले 1992 में माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई की थी. तब वह एक सहायक कर्मचारी के रूप में शामिल हुए थे.

कामी ने तब से निडर होकर कई पर्वतों की चढ़ाई की, जिनमें माउंट के2, चो ओयु, ल्होत्से और मनास्लु शामिल है. इस बीच, एक प्रसिद्ध ब्रिटिश पर्वतारोही ने 18वीं बार दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत पर चढ़ाई की. इस तरह उन्होंने किसी भी विदेशी पर्वतारोही द्वारा सबसे अधिक माउंट एवरेस्ट शिखर पर चढ़ने का अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया. ‘द हिमालयन टाइम्स’ की खबर के अनुसार, दक्षिण पश्चिम इंग्लैंड के ग्लॉस्टरशायर के केंटन कूल ने माउंट एवरेस्ट पर सबसे अधिक बार चढ़ने का अपना ब्रिटिश रिकॉर्ड भी तोड़ दिया.