बैरकपुर/हुगली/हावड़ा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पर ‘वोट बैंक’ की राजनीति का आरोप लगाया और दावा किया कि राज्य की सत्तारूढ. पार्टी के ‘गुंडे’ दोषियों को बचाने के लिए संदेशखाली की प्रताड़ित महिलाओं को धमकी दे रहे हैं.
संदेशखाली में तृणमूल कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ यौन शोषण के आरोप सामने आने के बाद पिछले कुछ समय से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और प्रदेश की सत्तारूढ. पार्टी के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जोरों पर है.

मोदी ने उत्तर 24 परगना जिले के बैरकपुर और फिर हुगली में एक के बाद एक चुनावी जनसभाओं को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के शासन में राज्य में हिंदू दोयम दर्जे के नागरिक बन गए हैं. उन्होंने जोर देकर कहा, ”जब तक मोदी है, कोई भी सीएए (नागरिकता संशोधन कानून) को रद्द नहीं कर सकता.” राहुल गांधी का नाम लिये बिना उन्होंने दावा किया कि लोकसभा चुनावों में कांग्रेस को देशभर में अपने ‘शहजादे’ की उम्र से भी कम सीट मिलेगी. कांग्रेस नेता राहुल गांधी 53 साल के हैं.

बैरकपुर की रैली में उन्होंने कहा, ”हम सभी ने देखा है कि तृणमूल कांग्रेस ने संदेशखाली की बहनों और माताओं के साथ क्या किया. टीएमसी के गुंडे अब संदेशखाली में महिलाओं को धमकी दे रहे हैं, क्योंकि मुख्य अपराधी का नाम शाहजहां शेख है. टीएमसी संदेशखाली के दोषियों को कानूनी कार्रवाई से बचाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है. टीएमसी से डरना नहीं है.” हुगली में अपनी दूसरी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ”टीएमसी संदेशखाली में हर हथकंडा अपना रही है, लेकिन संदेशखाली के किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा.”

उनकी टिप्पणी सोशल मीडिया पर सामने आए कई कथित वीडियो की पृष्ठभूमि में आई, जिनमें दावा किया गया है कि भाजपा के एक स्थानीय नेता ने संदेशखाली की कई महिलाओं से सादे कागजों पर हस्ताक्षर करवाए जिन्हें बाद में टीएमसी नेताओं के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायतों के रूप में पेश किया गया. हालांकि, प्रधानमंत्री ने सीधे तौर पर उन वीडियो का जिक्र नहीं किया. पीटीआई-भाषा उन वीडियो की प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं करता है, जिनसे पिछले कुछ दिनों से राज्य में राजनीतिक विवाद उबाल पर है.

यह दावा करते हुए कि तृणमूल कांग्रेस के शासन में बंगाल भ्रष्टाचार का केंद्र और ‘बम बनाने का कुटीर उद्योग’ बन गया है, मोदी ने कहा कि राज्य की सत्तारूढ. पार्टी ने वोट बैंक की राजनीति के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है. उन्होंने कहा, ”मोदी जहां हर घर में पानी की बात करता है, वहीं तृणमूल कांग्रेस हर घर में बम की बात करती है.” मुर्शिदाबाद जिले से तृणमूल कांग्रेस के विधायक हुमायूं कबीर की हालिया टिप्पणियों का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा, ”तृणमूल कांग्रेस के नेता ने कहा कि वे हिंदुओं को भागीरथी नदी में फेंक देंगे… उनमें यह सब कहने और करने की हिम्मत कहां से आती है?” प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सहयोगी समाजवादी पार्टी (सपा) के एक उम्मीदवार द्वारा की गई ‘वोट जिहाद’ वाली टिप्पणी का ‘समर्थन’ करने के लिए विपक्षी ‘इंडिया’ गठबंधन और कांग्रेस की भी आलोचना की.

भ्रष्टाचार विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ में शामिल दलों के चरित्र में है : मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ में शामिल दलों के चरित्र में है और तृणमूल कांग्रेस ने इसे ”पूर्णकालिक कारोबार” बना लिया है. हावड़ा के संकराइल में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के नेताओं का काम राज्य में अशांति का माहौल बनाना है.

मोदी ने आरोप लगाया, ”चाहे कांग्रेस हो, वामपंथी दल हों या ‘इंडिया’ गठबंधन की कोई अन्य पार्टी, इन सभी ने भ्रष्टाचार को अपना चरित्र बना लिया है.” उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों ने अपनी कमाई लॉटरी टिकट खरीदने में खर्च कर दी और उसे लॉटरी घोटाले में गंवा दिया. उन्होंने दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस का एजेंडा अवैध अप्रवासियों का कल्याण है न कि पश्चिम बंगाल के लोगों का.” उन्होंने कहा, ”वे भारत के लोगों को ‘बोहिरागोतो’ (बाहरी) कहते हैं, लेकिन दूसरे देशों से अवैध अप्रवासियों को बंगाल में प्रवेश दिया जाता है.” उन्होंने दावा किया, ”कई इलाकों में मूल निवासी अल्पसंख्यक बन गए हैं.”