नयी दिल्ली: पश्चिम बंगाल में इलेक्ट्रॉनिक वोंिटग मशीनों में गड़बड़ी की शिकायतों के बीच लोकसभा चुनावों के चौथे चरण में 10 राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों की 96 लोकसभा सीट पर सोमवार को शुरुआती दो घंटों में करीब 10.35 फीसदी मतदान दर्ज किया गया।

आंध्र प्रदेश की सभी 175 और ओडिशा की 28 विधानसभा सीट पर भी मतदान जारी है। निर्वाचन आयोग के मुताबिक, सुबह नौ बजे तक जम्मू-कश्मीर में सबसे कम 5.7 फीसदी और पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक 15.24 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।

वहीं आंध्र प्रदेश में 9.05 फीसदी, बिहार में 10.18 फीसदी, झारखंड में 11.78 फीसदी, मध्य प्रदेश में 14.97 फीसदी, महाराष्ट्र में 6.45 फीसदी, ओडिशा में 9.23 फीसदी, तेलंगाना में 9.51 फीसदी और उत्तर प्रदेश में 11.67 फीसदी मतदाताओं ने वोट डाला।

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दोनों ने ही ईवीएम में खराबी, एजेंटों को मतदान केंद्रों में प्रवेश करने से रोकने और विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों में मतदाताओं को वोट डालने से रोकने या धमकाने का आरोप लगाते हुए शिकायतें दर्ज कराईं। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, सुबह नौ बजे तक टीएमसी ने करीब 139 शिकायतें दर्ज कराईं जबकि भाजपा ने 35 से अधिक शिकायतें दर्ज कराई हैं।

एक अधिकारी ने बताया, ”हमें 350 शिकायतें मिली हैं, जिनमें से 99 का निपटारा कर दिया गया। संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में हमारे अधिकारी अन्य शिकायतों पर नजर बनाए हुए हैं और जल्द ही उनका समाधान किया जाएगा।”

बहरामपुर लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार अधीर रंजन चौधरी और टीएमसी के उनके प्रतिद्वंद्वी पूर्व क्रिकेटर यूसुफ पठान ने कहा कि जिस तरह से मतदान हो रहा है, उसे देखकर वह खुश हैं। कृष्णानगर से टीएमसी उम्मीदवार महुआ मोइत्रा ने कहा कि चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से जारी है और वह खुद मतदान पर नजर रखने के लिए विभिन्न मतदान केंद्रों का दौरे पर जा रही हैं।

पूर्व उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तेलंगाना इकाई के अध्यक्ष जी किशन रेड्डी, आॅल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी, फिल्म अभिनेता चिरंजीवी, अल्लू अर्जुन, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी और तेलुगु देशम पार्टी के सुप्रीमो एन. चंद्रबाबू नायडू जैसे दिग्गज चेहरों ने सुबह के समय मतदान किया।

किशन रेड्डी ने मतदान करने के बाद संवाददाताओं से कहा, ”कुछ वरिष्ठ नागरिकों सहित कई मतदाताओं ने मतदान किया। बड़ी संख्या में लोग वोट देने के लिए निकल रहे हैं। मैं लोगों से अनुरोध कर रहा हूं कि वे आएं और लोकतंत्र व देश की सुरक्षा के लिए अपने मताधिकार का उपयोग करें।” ओवैसी ने कहा कि देश, किसी भी नागरिक से कहीं बढ़ कर है और लोगों को देश के लिए मतदान करना चाहिए।

उन्होंने कहा, ”देश किसी व्यक्ति से कहीं बढ़ कर है। किसी एक व्यक्ति के लिए नहीं बल्कि देश और पार्टी के लिए मतदान करें।” जगन मोहन रेड्डी ने मतदान के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि जनता ने पिछले पांच वर्षों के दौरान सबसे अच्छा शासन देखा है।

उन्होंने कहा, ”आपने शासन देखा है और अगर आपको लगता है कि इस सरकार से आपको फायदा हुआ है तो उस पार्टी को वोट करें, जो आपके भविष्य को उज्जवल बना सके।” पूर्व वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल प्रदीप वसंत नाइक ने महाराष्ट्र के पुणे में मतदान किया, हालांकि उनकी पत्नी मधुबाला का नाम मतदाता सूची से हटा दिया गया था।

नाइक (75) अपनी पत्नी और 43 वर्षीय बेटे विनीत के साथ सोमवार को सुबह मतदान शुरू होते ही पुणे के सैपंिलग स्कूल बानेर रोड स्थित मतदान केंद्र-26 पर वोट डालने के लिए पहुंचे। नाइक ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ”मैंने और मेरे बेटे ने मतदान किया लेकिन मेरी पत्नी (72) का नाम मतदाता सूची में नहीं था। जब हमने यह बात वहां मौजूद अधिकारी को बताई तो उन्होंने कहा कि वह इसमें किसी प्रकार की मदद नहीं कर सकते।”

चौथे चरण की 96 लोकसभा सीट पर कुल 1,717 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इस दौर में 8.73 करोड़ महिलाओं सहित 17.70 करोड़ से अधिक पात्र मतदाता 1.92 लाख मतदान केंद्रों पर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। इन मतदान केंद्रों पर 19 लाख से अधिक मतदान अधिकारी तैनात किए गए हैं।

तेलंगाना की सभी 17 लोकसभा सीट, आंध्र प्रदेश की 25, उत्तर प्रदेश की 13, बिहार की पांच, झारखंड की चार, मध्य प्रदेश की आठ, महाराष्ट्र की 11, ओडिशा की चार, पश्चिम बंगाल की आठ सीट और जम्मू-कश्मीर की एक सीट पर मतदान हो रहा है।

अनुच्छेद 370 के कुछ प्रावधानों को निरस्त किये जाने के बाद कश्मीर में यह पहला बड़ा चुनाव है। जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले इस अनुच्छेद के कुछ प्रावधानों को 2019 में रद्द कर दिया गया था और राज्य को जम्मू कश्मीर और लद्दाख केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया गया था।

श्रीनगर निर्वाचन क्षेत्र में 17.48 लाख मतदाता हैं और 24 उम्मीदवार चुनाव मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। लोकसभा चुनाव के पहले तीन चरणों में मतदान प्रतिशत क्रमश? 66.14 प्रतिशत, 66.71 प्रतिशत और 65.68 प्रतिशत था। आयोग का मानना है कि 2019 के संसदीय चुनावों की तुलना में पिछले तीन चरणों में कम मतदान का एक कारण लू है।

चुनाव आयोग ने भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के पूर्वानुमान का हवाला देते हुए रविवार को कहा था कि चौथे चरण में मतदान के दौरान गर्मी को लेकर कोई खास ंिचता करने की जरूरत नहीं है। गर्मी के मद्देनजर और दोपहर के वक्त लोगों के बाहर न निकलने की इच्छा को ध्यान में रखते हुए आयोग ने तेलंगाना की कुछ सीट पर मतदान का समय बढ़ा दिया है।

मतदान का सामान्य समय सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक है लेकिन कुछ इलाकों में सूर्यास्त के समय और सुरक्षा स्थिति को ध्यान में रखते हुए इसमें कटौती की जाती है। देश में अगले तीन चरणों के लिए मतदान 20 मई, 25 मई और एक जून को होगा। मतगणना चार जून को होगी।