बोंगांव. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से कहा कि वह अत्याचारों के बारे में “झूठे दावे” करके राज्य की महिलाओं के आत्म-सम्मान और गरिमा के साथ खिलवाड़ न करें. बोंगांव में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख बनर्जी ने कहा कि मोदी को यह ध्यान रखना चाहिए कि पश्चिम बंगाल की स्थिति भाजपा शासित राज्यों जैसी नहीं है.

उन्होंने कहा, ”महिलाओं के आत्मसम्मान के साथ न खेलें, हमारी माताओं और बहनों की गरिमा के साथ खिलवाड़ करने की साजिश न रचें.” प्रधानमंत्री ने रविवार को अपनी जनसभाओं में आरोप लगाया कि टीएमसी संदेशखालि में कुकर्मों को छिपाने की कोशिश कर रही है, जहां टीएमसी नेताओं पर यौन उत्पीड़न और जमीन हड़पने का आरोप लगा है.

हालांकि, हाल ही में सामने आए एक कथित वीडियो में, संदेशखालि के एक भाजपा नेता को यह कहते हुए सुना गया था कि नेता प्रतिपक्ष शुभेंदू अधिकारी के इशारे पर महिलाओं ने विरोध प्रदर्शन किया था और इस ह्लपूरी साजिशह्व में उनका हाथ था. ऐसे ही एक अन्य वीडियो में पहले बलात्कार की शिकायत दर्ज कराने वाली महिलाओं के एक वर्ग ने दावा किया कि भाजपा नेताओं ने उनसे एक कोरे कागज पर हस्ताक्षर कराए और थाने जाने के लिए मजबूर किया. हालांकि ‘पीटीआई-भाषा’ इन वीडियो की प्रमाणिकता की पुष्टि नहीं करता. बनर्जी ने कहा, “हमारी महिलाओं को हाथ न लगाएं, यह आपका उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश नहीं है. बंगाल में महिलाएं सम्मान और गरिमा के साथ रहती हैं.”