चंडीगढ़. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को हरियाणा के कुरुक्षेत्र के पिहोवा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत केंद्र सरकार पर उन्हें जेल में भेजने के लिये हमला करते हुए दावा किया कि ऐसा इसलिए किया गया, क्योंकि वह उनसे डरती है.
उन्होंने यह बात पिहोवा में आप प्रत्याशी सुशील गुप्ता के समर्थन में किये गए रोड शो के दौरान कही. रोड में गुप्ता भी मौजूद थे.
आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल को दिल्ली आबकारी नीति में हुए कथित घोटाले से जुड़े धन शोधन के मामले में शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय ने एक जून तक अंतरिम जमानत दे दी थी.

लोगों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा, “सोलह मार्च को चुनाव की घोषणा हुई और 21 मार्च को उन्होंने मुझे जेल भेज दिया. इसका मतलब है कि वे चाहते थे कि केजरीवाल प्रचार न करें. वे केजरीवाल से डरे हुए हैं.” उन्होंने पिहोवा में लोगों को संबोधित करते हुए कहा, “मेरी पिहोवा में रिश्तेदारी है. आप पूछेंगे कैसे. उन्होंने कहा कि मेरे छोटे भाई और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के ससुराल वाले पिहोवा के हैं.” केजरीवाल ने कहा, “उनके (मान के) ससुर इंद्रजीत सिंह आज हमारे साथ हैं… यहां से एक भी वोट भाजपा को नहीं जाना चाहिए.” भगवंत मान की पत्नी डॉ. गुरप्रीत कौर पिहोवा के एक गांव की रहने वाली हैं.

जमानत पर रिहा होने के बाद केजरीवाल का यह हरियाणा का पहला दौरा था. आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार सुशील गुप्ता ने रोड शो के दौरान दिल्ली और पंजाब में आप सरकार द्वारा विभिन्न वर्गों के कल्याण के लिए की गई कई पहलों पर प्रकाश डाला. हरियाणा की सभी 10 लोकसभा सीट पर लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 25 मई को मतदान होगा.