बनगांव. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मतुआ समुदाय की नागरिकता को लेकर चिंताओं को दूर करने के प्रयास के तहत मंगलवार को आश्वासन दिया कि समुदाय के सदस्यों को नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के तहत नागरिकता मिलेगी. शाह ने इसके साथ ही पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर इसके बारे में अफवाह फैलाने का आरोप भी लगाया. शाह ने मतुआ समुदाय के गढ़ बनगांव में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, ”ममता बनर्जी बंगाल में नागरिकता संशोधन कानून के क्रियान्वयन को कभी नहीं रोक सकतीं क्योंकि यह केंद्र सरकार का कानून है.”

उन्होंने कहा, ”दुनिया की कोई भी ताकत मेरे शरणार्थी भाइयों को भारत का नागरिक बनने से नहीं रोक सकती. ये मोदी जी का वादा है. ममता बनर्जी को यह याद रखना चाहिए कि नागरिकता केंद्र सरकार के विशेष अधिकार के अंतर्गत है, न कि राज्य सरकारों के अधीन.” शाह ने बनर्जी पर सीएए के बारे में झूठ बोलने और अफवाह फैलाने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा, “ममता बनर्जी यह झूठ बोल रही हैं कि जो कोई भी सीएए के तहत नागरिकता के लिए आवेदन करेगा, उसे समस्याओं का सामना करना पड़ेगा. मैं मतुआ समुदाय के लोगों को आश्वस्त करने आया हूं कि किसी को कोई परेशानी नहीं होगी. आपको नागरिकता मिलेगी और आप देश में सम्मान के साथ रह सकेंगे.”