बदायूं. बदायूं जिले में सदर कोतवाली क्षेत्र स्थित बड़े सरकार की दरगाह पर झाड़-फूंक के जरिये इलाज कराने आई महिला ने दरगाह पर चादर बेचने वाले एक कथित मौलवी के खिलाफ बलात्कार करने और अश्लील वीडियो बनाने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है.

पुलिस उपाधीक्षक आलोक मिश्रा ने मंगलवार को बताया कि सदर कोतवाली क्षेत्र में बदायूं-दिल्ली मार्ग पर सोत नदी के किनारे बनी ‘बड़े सरकार’ की प्रसिद्ध दरगाह मुसलमानों की आस्था का एक प्रमुख केंद्र है. यहां मानसिक रोगों का झाड़-फूंक के जरिये इलाज कराने आ रही बिजनौर जिले की रहने वाली एक महिला ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी को मंलवार को एक प्रार्थना पत्र दिया.

उन्होंने बताया कि अर्जी में महिला ने कहा है कि वह लगभग एक साल से झाड़-फूंक के जरिये इलाज कराने के लिए बदायूं में रह रही है.
उसने आरोप लगाया कि दरगाह में चुनरी और चादर की दुकान लगाने वाला मौलवी राहत ने इलाज के नाम पर झांसा देकर उसे अपने कमरे में ले गया और वहां उससे बलात्कार किया. पीड़िता ने बताया कि आरोपी ने इसकी वीडियो भी बना ली है.

मिश्रा के मुताबिक, आरोप लगाने वाली महिला का कहना है कि राहत आए दिन इलाज के नाम पर उसे अपने कमरे में ले जाकर उससे  बलात्कार करता था. उन्होंने बताया कि इस सिलसिले में आरोपी मौलवी राहत के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है. इस मामले में दरगाह प्रबंधन समिति के किसी जिम्मेदारी पदाधिकारी का बयान नहीं मिल सका है.