दुर्ग. भारतीय इस्पात प्राधिकरण लिमिटेड (सेल) की इकाई भिलाई इस्पात संयंत्र (बीएसपी) अपने परिसर और टाउनशिप में सौर ऊर्जा प्रणाली स्थापित करेगी. अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि इस संबंध में भिलाई इस्पात संयंत्र और छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) ने एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं.

उन्होंने बताया कि संयंत्र परिसर में सौर ऊर्जा प्रणाली स्थापित करने की इस योजना से करीब दो मेगावाट बिजली का उत्पादन होने का अनुमान है. इसके साथ ही टाउनशिप के विभिन्न मकानों और शासकीय कार्यालयों के छतों पर सौर ऊर्जा ‘पैनल’ लगाने की योजना है.
अधिकारियों ने बताया कि इन दोनों योजनाओं के पूरे होने पर प्रतिवर्ष करीब 2900 टन कार्बन डाइऑक्साइड के उत्सर्जन में कमी आएगी. परियोजना के मार्च 2025 तक पूरी होने की संभावना है.