तिरुवनंतपुरम. केरल में वामदलों और कांग्रेस नेताओं ने मशहूर अभिनेता ममूटी के प्रति समर्थन जताया है जो अपनी दो साल पुरानी एक फिल्म को लेकर दक्षिणपंथियों के आनलाइन उत्पीड़न का शिकार हुए हैं. यह विवाद तब शुरू हुआ जब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पोस्ट में दावा किया गया कि 2022 में रिलीज हुई फिल्म ‘पुझू’ ब्राह्मण विरोधी थी.

ऐसे कुछ लोगों ने फिल्म के संदर्भ में राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त अभिनेता की आलोचना करने के लिए ममूटी के जन्म का नाम मोहम्मद कुट्टी का भी उल्लेख किया. मनोवैज्ञानिक कथानक पर आधारित इस फिल्म का निर्देशन राथिना पी.टी. ने किया था. आलोचना के जवाब में सोशल मीडिया पर वामपंथी दलों और कांग्रेस के नेताओं ने दिग्गज अभिनेता ममूटी का समर्थन किया है जिसमें केरल के मंत्री वी. सीवनकुट्टी, के.राजन, और एआईसीसी के महासचिव के.सी. वेणुगोपाल का नाम शामिल है. माकपा नेता और राजस्व मंत्री के.राजन और केरल के शिक्षा मंत्री वी. सीवनकुट्टी ने ममूटी को ‘केरल का गौरव’ बताया है.

इस मामले में विवाद तब पैदा हुआ जब महिला निदेशक के पति ने एक ऑनलाइन चैनल को दिए साक्षात्कार में दावा किया था कि फिल्म एक विशेष समुदाय के खिलाफ थी. उन्होंने फिल्म करने के लिए ममूटी की आलोचना की थी. भाकपा नेता तथा राजस्व मंत्री के.राजन ने कहा कि वे संघ परिवार की राजनीति को अभिनेता पर हावी नहीं होने देंगे. के.सी. वेणुगोपाल ने कहा कि राज्य का धर्मनिरपेक्ष समाज इस तरह के प्रोपागेंडा का समर्थन नहीं करेगा. एक फेसबुक पोस्ट में कांग्रेस नेता ने कहा कि ममूटी जैसे मशहूर अभिनेता को धर्म और जाति तक सीमित नहीं रखा जा सकता. इस मामले में अभिनेता की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.