बांदा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आम आदमी पार्टी (आप) के प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बयानों पर पलटवार करते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि धन शोधन मामले में जेल जाने के बाद केजरीवाल की बुद्धि ‘फिर’ गई है. मुख्यमंत्री ने यहां एक चुनावी रैली में केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा, ”अन्ना हजारे के सपनों पर पानी फेरने वाले केजरीवाल अब मेरा नाम लेकर बातें कर रहे हैं. जेल जाने के बाद उनकी बुद्धि फिर गई है.”

उन्होंने कहा, ”अन्ना ने जिस कांग्रेस के खिलाफ आंदोलन किया था, केजरीवाल ने उसे ही अपने गले का हार बना लिया है. जेल जाकर उन्हें पता चल गया है कि अब वह कभी जेल के बाहर नहीं आने वाले हैं. आम आदमी पार्टी ने सत्ता में पहुंचकर अपने ईद-गिर्द भ्रष्टाचारियों का जमावड़ा लगा दिया है. अन्ना दुखी होते होंगे कि मेरे आंदोलन की उपज किस प्रकार की राजनीति करते हैं.” दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख अखिलेश यादव के साथ लखनऊ में आज एक संयुक्त प्रेस वार्ता में अपना यह दावा दोहराया कि अगर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सत्ता में आई तो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को हटा दिया जाएगा.

उन्होंने कहा, ”अगर ये (भाजपा) लोग जीत गये तो योगी आदित्यनाथ जी को दो से तीन माह के अंदर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद से हटा दिया जाएगा.” केजरीवाल ने कहा कि आदित्यनाथ को दो महीने में पद से हटाने संबंधी उनके बयान पर अभी तक भाजपा के किसी नेता की टिप्पणी नहीं आई.

उन्होंने कहा, “इसका मतलब यह बात पक्की है कि उन्होंने योगी को हटाने की पूरी योजना बना ली है.” ‘आप’ नेता ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने लिए नहीं, बल्कि गृह मंत्री अमित शाह को प्रधानमंत्री बनाने के लिए वोट मांग रहे हैं. उन्होंने दावा किया कि भाजपा के अंदर अमित शाह के सामने जो-जो नेता बाधा पैदा कर सकता था, एक-एक करके उन सभी को किनारे कर दिया गया और उनका पत्ता साफ कर दिया गया. केजरीवाल ने कहा, ” पहले शिवराज सिंह, रमन सिंह और वसुंधरा राजे समेत कई नेताओं को खत्म कर दिया. अब अगला नंबर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का है.”