बाराबंकी/फतेहपुर. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को दावा किया कि कांग्रेस और समाजवादी पार्टी (सपा) सत्ता आई तो राम मंदिर पर बुलडोजर चलाएंगी. साथ ही मोदी ने कहा कि उन्हें (सपा, कांग्रेस को) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से “ट्यूशन” लेना चाहिए कि ”बुलडोजर कहां चलाना है”. यहां एक रैली को संबोधित करते हए उन्होंने यह भी कहा कि ‘इंडिया’ गठबंधन “अस्थिरता” पैदा करने के लिए मैदान में है और जैसे-जैसे चुनाव आगे बढ़ रहा है, यह ताश के पत्तों की तरह ढह रहा है.

यह दावा करते हुए कि उनकी सरकार ‘हैट्रिक’ बनाने जा रही है, मोदी ने कहा कि नई सरकार में उन्हें गरीबी, युवाओं, महिलाओं और किसानों के लिए कई बड़े फैसले लेने हैं और इसके लिए वह यहां बाराबंकी और मोहनलालगंज के लोगों का आशीर्वाद लेने आए हैं.
उन्होंने कहा, ” चार जून दूर नहीं है. आज सारा देश और सारी दुनिया जानती है कि मोदी सरकार हैट्रिक बनाने जा रही है.” मोदी ने कहा, ” एक तरफ देशहित के लिए सर्मिपत भाजपा नीत राजग गठबंधन है, दूसरी तरफ देश में अस्थिरता पैदा करने के लिए इंडिया गठबंधन है. जैसे-जैसे चुनाव आगे बढ़ रहा है इंडिया गठबंधन के लोग ताश के पत्तों की तरह ढह रहे हैं.”

मोदी ने कहा, ”आपको काम करने वाले और आपका भला करने वाले सांसद चाहिए. हमे क्षेत्र का विकास करने वाले सांसद चाहिए न कि पांच साल मोदी को गाली देने वाले. इसके लिए आपके पास एक ही विकल्प है – कमल का फूल.” उन्होंने रैली में आए लोगों से कहा, ”100 सीसी के इंजन से आप 1,000 सीसी की रफ्तार ले सकते हैं क्या? आपको विकास की तेज रफ्तार चाहिए तो वो सिर्फ दमदार सरकार ही दे सकती है…भाजपा सरकार ही दे सकती है.” प्रधानमंत्री ने सपा और कांग्रेस पर निशाना साधने के लिए राम मंदिर का मुद्दा भी उठाया.

मोदी ने कहा, ”यहां सपा के एक बड़े नेता ने रामनवमी के दिन कहा था कि राम मंदिर तो बेकार है. वहीं, कांग्रेस राम मंदिर पर उच्चतम न्यायालय का फैसला पलटने की तैयारी कर रही है. इनके लिए सिर्फ अपना परिवार और पॉवर (सत्ता) ही मायने रखते हैं.” उन्होंने दावा किया, ”सपा-कांग्रेस वाले अगर सरकार में आए, तो रामलला को फिर से तंबू में भेजेंगे और मंदिर पर बुलडोजर चलवा देंगे.” साथ ही उन्होंने दोनों दलों (सपा-कांग्रेस) को बुलडोजर का कहां इस्तेमाल करना चाहिए इसके लिए योगी आदित्यनाथ से ‘ट्यूशन’ लेने को कहा.

योगी आदित्यनाथ सरकार पर राज्य में कथित अपराधियों की संपत्ति को गिराने के लिए बुलडोजर के इस्तेमाल के आरोप लगते रहे हैं.
सपा नेता रामगोपाल यादव ने हाल ही मे अपनी टिप्पणी से विवाद उत्पन्न कर दिया था कि अयोध्या में राम मंदिर बेकार है क्योंकि इसका सही निर्माण नहीं किया गया है. उनके इस बयान की योगी आदित्यनाथ ने कड़ी आलोचना की थी और कहा था कि यह ‘इंडिया’ गठबंधन की ‘असलियत’ दिखाता है.

यह आरोप लगाते हुए कि सपा-कांग्रेस के लिए वोटबैंक से बड़ा कुछ नहीं है मोदी ने कहा, ” लेकिन, जब मैं इनकी पोल खोलता हूं, तो ये बेचैन हो जाते हैं, इनकी नींद हराम हो जाती है. ये कुछ भी बोलना शुरू कर देते हैं, गालियां देना शुरू कर देते हैं.” उन्होंने कहा, ”सपा-कांग्रेस तुष्टीकरण के आगे घुटने टेक चुकी हैं. और मोदी जब इनकी सच्चाई देश को बता रहा है…तो ये कहते हैं कि मोदी हिंदू-मुसलमान कर बांट रहा है. जिस वोटबैंक के पीछे ये लोग भागते हैं, वो भी अब इनकी सच्चाई समझने लगे हैं. तीन तलाक कानून से खुश हमारी माताएं-बहनें भाजपा को लगातार आशीर्वाद दे रही हैं.”

मोदी ने समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव का नाम लिए बिना उन पर निशाना साधते हुए कहा, ”यहां जो बबुआ जी यानी समाजवादी शहजादे हैं, अब उन्होंने एक नई बुआ की शरण ली है. उनकी ये नई बुआ बंगाल में हैं. अब उनकी बंगाल वाली बुआ जी ने ‘इंडिया’ गठबंधन वालों को कहा है कि मैं आपको बाहर से समर्थन दूंगी.” प्रधानमंत्री का इशारा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की ओर था.

उन्होंने ‘इंडिया’ गठबंधन के घटक दलों आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस के बीच पंजाब में लड़ाई का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, ” ‘इंडिया’ गठबंधन की एक और पार्टी ने अपनी सहयोगी दूसरी पार्टी से कह दिया है कि खबरदार अगर हमारे खिलाफ पंजाब में कुछ बोला.” मोदी ने कहा कि वे प्रधानमंत्री के पद को लेकर दिन में सपने देख रहे हैं.

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की टिप्पणी कि रायबरेली के लोग देश के प्रधानमंत्री को चुनने जा रहे हैं के लिए उनका मजाक उड़ाते हुए मोदी ने कहा, ”इनके सपनों की इंतहा देखिए”. प्रधानमंत्री ने कहा, ” कांग्रेस के एक नेता ने कह दिया कि रायबरेली के लोग प्रधानमंत्री चुनेंगे. ये सुनते ही समाजवादी शहजादे का दिल ही टूट गया, बस आंसू नहीं निकले, लेकिन दिल के सारे अरमान बह गए.” बघेल ने 14 मई को रायबरेली में दिए अपने एक भाषण का वीडियो ‘एक्स’ पर साझा किया था. जिसमें उन्हें यह कहते सुना जा सकता है, ”रायबरेली के लोग सिफ.र् लोकसभा सदस्य नहीं चुन रहे हैं, बल्कि इंदिरा गांधी जी के बाद फिर से देश का प्रधानमंत्री चुनने जा रहे हैं.” मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद पर भी निशाना साधा.

उन्होंने कहा, ”बिहार के इनके चारा घोटाले के चैंपियन, जो अभी तबीयत के बहाने जेल से बाहर घूम रहे हैं, वो तो यहां तक कह रहे हैं कि पूरा का पूरा आरक्षण अब मुसलमानों को मिलना चाहिए. इसका मतलब दलित, आदिवासी और पिछड़ों के पास कुछ बचेगा ही नहीं.” आरक्षण के मुद्दे पर विपक्ष को घेरते हुए मोदी ने कहा, ”जब संविधान बना, तब संविधान सभा ने निर्णय किया था कि धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं होगा. लेकिन, 10 साल पहले इन लोगों (कांग्रेस) ने धर्म के आधार पर आरक्षण देने की कोशिश की थी. कर्नाटक में तो इन्होंने ये कर भी दिया है. वहां इन्होंने सब मुसलमानों को रातों-रात ओबीसी बना दिया. ओबीसी को मिले आरक्षण में से बहुत बड़ा हिस्सा इन्होंने वहां लूट लिया.” भगवान राम का आह्वान करते हुए मोदी ने कहा, ”

राम काज से आगे अब राष्ट्र काज का समय है. राम काज की प्रेरणा राष्ट्र काज के लिए है. मैं आपके अधिकारों की रक्षा करने के लिए आपसे ‘400 पार’ सीट मांग रहा हूं.” बाराबंकी में मुख्य मुकाबला कांग्रेस प्रत्याशी तनुज पूनिया और भाजपा उम्मीदवार राजरानी रावत के बीच है. तनुज पूनिया कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और बाराबंकी (सु) सीट से सांसद रहे पीएल पूनिया के बेटे है.

इज्जत बचाने के लिए अब कांग्रेस का लक्ष्य ‘मिशन 50’ : प्रधानमंत्री मोदी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा चुनाव को कांग्रेस के लिए अस्तित्व का संकट करार देते हुए शुक्रवार को कहा कि अब कांग्रेस का लक्ष्य किसी भी तरह 50 सीट जीतने का है ताकि वह अपनी इज्जत बचा सके. मोदी आज यहां केंद्रीय मंत्री एवं पार्टी प्रत्याशी साध्वी निरंजन ज्योति के समर्थन में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे .

उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा, ”मैंने कहा था कि ये शहजादे केरल के वायनाड से भागेंगे. मैंने कहा था कि वो अमेठी की तरफ जाने की हिम्मत नहीं करेंगे- ये खबर भी पक्की निकली. आगे की खबर ये है कि इज्जत बचाने के लिए अब कांग्रेस ने ‘मिशन 50’ रखा है. मतलब- कैसे भी करके पूरे देश में 50 सीट मिल जाएं, ये कांग्रेस का लक्ष्य है.”