अमृतसर/नयी दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को देश के हालात की तुलना रूस से करते हुए दावा किया कि देश में ‘तानाशाही’ है और विपक्षी नेताओं को जेल में डाला जा रहा है. केजरीवाल पंजाब में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं, नेताओं, विधायकों और सांसदों को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने उनसे राज्य की सभी 13 लोकसभा सीटों पर पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रयास करने को कहा. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर सभी प्रतिद्वंद्वी पार्टी नेताओं को जेल में डालने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा, ”हमारे देश में जो तानाशाही चल रही है, वह स्वीकार्य नहीं है. भारत ने पिछले 75 सालों में ऐसा दौर कभी नहीं देखा… विपक्षी नेताओं को जेल में डाला जा रहा हों.” केजरीवाल ने कहा, ”रूस की तरह… पुतिन (राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन) ने या तो सभी प्रतिद्वंद्वी नेताओं को जेल भेज दिया या उन्हें मरवा दिया और फिर चुनाव कराया. इस दौरान उन्हें 87 फीसदी वोट मिले. जब कोई विपक्ष नहीं होगा, तो वोट पाने वाले आप अकेले होंगे.” केजरीवाल को दिल्ली आबकारी नीति मामले में 10 मई को जमानत दे दी गई थी ताकि वह लोकसभा चुनाव में प्रचार कर सकें. वह 2 जून को जेल में वापस आएंगे.

उन्होंने कहा, ”उन्होंने मुझे जेल में डाल दिया, मनीष सिसोदिया (दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री) को जेल में डाल दिया गया, कांग्रेस पार्टी का बैंक खाता कुर्क कर लिया गया, टीएमसी को परेशान किया जा रहा है, स्टालिन (तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन) के मंत्रियों को जेल में डाल दिया गया है.” उन्होंने कहा, ”सबको जेल में डाल दो. तब केवल एक पार्टी और एक नेता बचेगा लेकिन लोकतंत्र नहीं बचेगा. हमें ऐसा नहीं होने देना है.” आप के राष्ट्रीय संयोजक ने आरोप लगाया कि तिहाड़ जेल में उनकी कोठरी में दो सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं और उन पर चौबीसों घंटे नजर रखी जा रही है कि वह जेल में क्या कर रहे हैं.

निगरानी किए जाने के अपने आरोप पर उन्होंने आगे कहा, ”कब मैं उठा, मैंने बाथरूम में कितना समय बिताया, कब मैं बाहर निकला, कितना समय मैं शौचालय में रहा.” उन्होंने आरोप लगाया कि उनके सेल के सीसीटीवी फीड की निगरानी 13 अधिकारियों द्वारा 24 घंटे की गई थी. उन्होंने दावा किया, ”मुझे बताया गया कि एक फीड पीएमओ को जाती थी और दो टीवी सेटों पर इसकी निगरानी की जाती थी कि केजरीवाल सेल में क्या कर रहा है.” मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया, ”उन्होंने मुझे तोड़ने की कोशिश की. मैं मेडिटेशन करता था और किताबें पढ.ता था. मेरे पास आंतरिक शक्ति है.” भाजपा पर निशाना साधते हुए केजरीवाल ने आरोप लगाया कि उसकी मंशा उन्हें गिरफ्तार करने की है कि ताकि पार्टी टूट जाए और सरकार गिर जाए.

उन्होंने कहा, ”लेकिन ठीक इसके विपरीत हुआ. आम आदमी पार्टी एक परिवार है और जब किसी परिवार को कोई समस्या होती है तो वे सभी एकजुट हो जाते हैं.” उन्होंने कहा कि केजरीवाल की गिरफ्तारी से कुछ नहीं होगा और आप पर कोई असर नहीं पड़ेगा.
दिल्ली के मुख्यमंत्री ने दावा किया कि जेल नियमावली के अनुसार अगर अधीक्षक चाहें तो एक कमरे में मुलाकात की व्यवस्था की जा सकती है.

स्वाति मालीवाल पर हमले का मामला: आप ने भाजपा पर केजरीवाल को फंसाने की साजिश का आरोप लगाया
आम आदमी पार्टी (आप) ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि स्वाति मालीवाल पर हमले का मामला दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को फंसाने की भाजपा की साजिश है और वह इसका “चेहरा” हैं. पार्टी ने केजरीवाल के निजी सहायक के खिलाफ राज्यसभा सदस्य मालीवाल द्वारा लगाए गए आरोपों को “निराधार” बताया.

आप की यह टिप्पणी दिल्ली पुलिस द्वारा मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास पर मालीवाल के साथ कथित तौर पर मारपीट करने के मामले में केजरीवाल के निजी सहायक बिभव कुमार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के एक दिन बाद आई है. आप की वरिष्ठ नेता आतिशी ने संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि वह पहले से मुलाकात का समय लिए बिना मुख्यमंत्री आवास पहुंची थीं और उनका इरादा केजरीवाल के खिलाफ आरोप लगाने का था.

आतिशी ने कहा, “आज एक वीडियो सामने आया है, जिसने मालीवाल के झूठ की पोल खोल दी है. अपनी प्राथमिकी में उन्होंने कहा है कि उनके साथ बेरहमी से मारपीट की गई और वह दर्द में थीं और उनकी शर्ट के बटन तोड़ दिए गए. सामने आया एक वीडियो बिल्कुल अलग हकीकत बयां करता है.” प्राथमिकी के मुताबिक, कथित तौर पर कुमार ने मालीवाल को “लात मारीं और सात से आठ बार थप्पड़ मारे”. प्राथमिकी में यह भी कहा गया है कि मालीवाल द्वारा रुकने को कहे जाने के बावजूद कुमार नहीं माने.