रांची. झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) ने शुक्रवार को राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन को छह साल के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया. झामुमो ने एक विज्ञप्ति में कहा कि उन्हें ‘पार्टी विरोधी गतिविधियों’ की वजह से निष्कासित किया गया है.

तीन बार की विधायक सीता सोरेन 2009 में अपने पति दुर्गा सोरेन की मृत्यु के बाद से झामुमो की ओर से उनको ‘अलग-थलग’ करने और ‘उपेक्षा’ करने का आरोप लगाते हुए 20 मार्च को नयी दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)में शामिल हो गईं. भाजपा ने उन्हें मौजूदा सांसद सुनील सोरेन की जगह दुमका लोकसभा सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है. सुनील सोरेन ने 2019 के चुनाव में झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन को 47,590 मतों के अंतर से हराया था. दुमका निर्वाचन क्षेत्र में एक जून को मतदान होगा.