आगरा. आगरा के थाना बरहन क्षेत्र में कथित तौर पर कान में ‘ईयर फोन’ लगाने के कारण ट्रेन की चपेट में आकर दो सगी बहनों की मौत हो गयी, जबकि उनकी तीसरी बहन अब भी लापता है. पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. थाना बरहन के प्रभारी निरीक्षक राजीव राघव ने बताया कि तीनों सगी बहनें देर रात भागवत सुनकर घर लौट रही थीं. उन्होंने कहा कि गांव नगला छबीला के पास बृहस्पतिवार देर रात दिल्ली-हावड़ा रेलवे ट्रैक पर अरुणाचल सुपरफास्ट ट्रेन की चपेट में आकर दो बहनों की मौत हो गई.

पुलिस ने बताया कि दोनों शवों के कान में मोबाइल का ‘ईयर फोन’ लगा पाया गया. पुलिस को संदेह है कि ईयर फोन लगाने के कारण उन्हें ट्रेन की आवाज सुनाई नहीं दी होगी और वे ट्रेन की चपेट में आ गयीं. पुलिस को रेलवे ट्रैक पर एक मोबाइल मिला है. पुलिस तीसरी युवती के बारे में जानकारी जुटा रही है.

राघव ने बताया कि स्थानीय लोगों ने ट्रैक पर शव देखे तो पुलिस को सूचना दी. शवों की पहचान गोहिला गांव निवासी महेश वाल्मीकि की पुत्री किरन (22 वर्ष) और सरिता (20 वर्ष) के रूप में हुई है. परिजनों ने पुलिस को बताया कि तीनों बहनें किरन, सरिता और शिवानी (18 वर्ष) एक साथ भागवत कथा सुनने के लिए गई थीं. पुलिस शिवानी की तलाश कर रही है.