मुंबई: कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर अपने चुनावी भाषणों के जरिए लोगों को भड़काने और समाज को विभाजित करने का आरोप लगाया। खरगे ने ‘इंडिया’ (इंडियन नेशनल डेवलेपमेंटल इन्क्लूसिव एलायंस) गठबंधन के एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मोदी पर यह आरोप लगाया। इस सम्मेलन में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी-शरदचंद्र पवार (राकांपा-एसपी) प्रमुख शरद पवार, शिवसेना-उद्धव बालासाहेब ठाकरे (शिवसेना- यूबीटी) के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और अन्य नेता भी मौजूद थे। विपक्षी गठबंधन ने शुक्रवार को शहर में एक चुनावी रैली की थी।

खरगे ने कहा ‘‘मोदी से पहले किसी भी प्रधानमंत्री ने लोगों को इस तरह भड़काने का काम नहीं किया जैसा वह कर रहे हैं। वह बार-बार लोकतंत्र की बात करते हैं लेकिन लोकतंत्र के सिद्धांतों का पालन नहीं करते।’’ मोदी ने बयान दिया था कि कांग्रेस सत्ता में आने पर अयोध्या स्थित राम मंदिर पर बुलडोजर चला देगी और धारा 370 को भी बहाल कर देगी। इस संबंध में सवाल किए जाने पर खरगे ने कहा, ‘‘हमने कभी किसी पर बुलडोजर नहीं चलाया।

मोदी को उन चीजों को लेकर झूठ बोलने और लोगों को भड़काने की आदत है जो कांग्रेस कभी नहीं करेगी या जिन चीजों को लागू करना असंभव है।’’ खरगे ने अनुच्छेद 370 पर उनकी पार्टी के रुख के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘‘मैं मोदी के प्रति जवाबदेह नहीं हूं।

हमने अपने घोषणापत्र में जो वादा किया है हम उसे पूरा करेंगे।’’ उन्होंने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘वह जहां भी जाते हैं, विभाजन करने की कोशिश करते हैं, समाज को बांटने की बात करते हैं।’’ खरगे ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस के घोषणापत्र को मुस्लिम लीग का घोषणापत्र बताया था लेकिन अब वह कहते हैं कि यह माओवादी घोषणापत्र है।

कांग्रेस प्रमुख ने आश्वासन दिया कि संविधान में दिया गया आरक्षण जारी रहेगा और कोई इसे छू नहीं सकता।
ठाकरे ने इस मौके पर कहा, ‘‘ ‘अच्छे दिन’ चार जून (जब लोकसभा चुनाव परिणाम घोषित होंगे) के बाद आएंगे जब ‘इंडिया’ गठबंधन के नेतृत्व वाली सरकार सत्ता संभालेगी।’’

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी हमें ‘नकली’ शिवसेना कहते हैं, कल वह आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) को ‘नकली संघ’ कह सकते हैं।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा नौकरियों जैसे मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए ‘‘हमारी रैली में पाकिस्तान के झंडे’’ का विमर्श पेश करने की कोशिश कर रही है।

पवार ने कहा कि सत्ता में आने के बाद ‘इंडिया’ गठबंधन सरकार का कर्तव्य देश के सभी धार्मिक स्थलों की सुरक्षा करना होगा। खरगे ने कहा कि यदि ‘इंडिया’ गठबंधन की सरकार चुनी जाती है तो वह वर्तमान जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) की जगह सरल व एकल दर जीएसटी लागू करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘हमने खाद्य सुरक्षा कानून पेश किया, लेकिन मुफ्त राशन आपूर्ति का श्रेय प्रधानमंत्री मोदी ले रहे हैं।’’