संबलपुर. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला गया है. सिंह ने संबलपुर लोकसभा सीट के अंतर्गत रायराखोल में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए यह बात कही. केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान संबलपुर सीट से भाजपा के उम्मीदवार हैं.

सिंह ने कहा, “जवाहर लाल नेहरू से लेकर इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और मनमोहन सिंह तक, सभी देश से गरीबी खत्म करने में विफल रहे हैं. लेकिन मोदी पहले प्रधानमंत्री हैं जो इस देश में गरीब लोगों के दुखों को कम कर सके हैं.” रक्षा मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले 10 वर्षों के दौरान भारत के गरीब लोगों को पक्का घर, घरों में पाइप से पानी, मुफ्त रसोई गैस, मुफ्त खाद्यान्न, शौचालय और कई अन्य सुविधाएं प्रदान की हैं.

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने वादे के मुताबिक अयोध्या में श्री राम मंदिर का निर्माण सुनिश्चित किया, जिससे आलोचक चुप हो गए. सिंह ने कहा, ”राम लला अपने मंदिर में आ गए हैं, अब भारत में राम राज्य स्थापित होगा.” सिंह ने लोगों को मुफ्त स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने वाली आयुष्मान भारत योजना को लागू नहीं करने को लेकर ओडिशा की बीजू जनता दल (बीजद) सरकार की आलोचना की. उन्होंने कहा, “सत्ता में आने पर भाजपा सरकार ओडिशा के लोगों को आयुष्मान भारत कार्ड जारी करेगी.” उन्होंने लोगों से कहा कि वे मोदी सरकार की गरीब हितैषी योजनाओं को आगे बढ.ाने के लिए कमल के निशान पर वोट डालें.

वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि ओडिशा में भाजपा की सरकार बनते ही लोगों को पक्का घर, पाइप से पानी, आयुष्मान भारत कार्ड और अन्य सुविधाएं मिलेंगी. सिंह ने कहा कि ओडिशा की खराब स्थिति के लिए कांग्रेस और बीजद दोनों जिम्मेदार हैं. कांग्रेस ने राज्य में 50 साल और बीजद ने 25 साल तक शासन किया है. उन्होंने दावा किया कि भारत एकमात्र ऐसा देश है जिसने देश के सभी नागरिकों को कोविड रोधी टीकों की दो खुराक मुफ्त प्रदान कीं. सिंह ने कहा कि मोदी ने महामारी के दौरान गरीब लोगों को पांच किलोग्राम अतिरिक्त खाद्यान्न भी उपलब्ध कराया.

उन्होंने कहा, “यह गरीब लोगों की जरूरतों के प्रति मोदी की संवेदनशीलता है.” यह दावा करते हुए कि मोदी ने विश्व स्तर पर भारत की प्रतिष्ठा को बढ.ाया है, सिंह ने कहा, “हमारे प्रधानमंत्री ने रूस और यूक्रेन दोनों के अधिकारियों से बात की तथा दोनों देशों के बीच साढ.े चार घंटे के लिए युद्ध रोक दिया गया. इस दौरान 22,000 से अधिक भारतीय छात्रों को युद्ध क्षेत्र से बचाया गया.” उन्होंने कहा कि जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान मोदी ने ओडिशा के गौरव और संस्कृति पर भी प्रकाश डाला.