श्रीनगर. जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शोपियां और पहलगाम में हुए आतंकी हमले की रविवार को कड़ी निंदा की तथा कहा कि इन हमलों को अंजाम देने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए सुरक्षा बलों को खुली छूट दी गई है. आतंकवादियों ने शनिवार रात कश्मीर में दो स्थानों पर हमले कर शोपियां में एक सरपंच की हत्या कर दी और अनंतनाग में राजस्थान के एक पर्यटक दंपती को घायल कर दिया. बारामूला में लोकसभा चुनाव से दो दिन पहले इन हमलों को अंजाम दिया गया.

सिन्हा ने यहां एक बयान में कहा, ”मैं आतंकी हमले और पूर्व सरपंच एजाज अहमद शेख की बर्बर हत्या से स्तब्ध हूं. वह जमीन से जुड़े नेता थे और लोगों की निस्वार्थ सेवा करने के लिए जाने जाते थे. मेरी संवेदनाएं उनके परिवार, मित्रों और शुभचिंतकों के साथ है. हम इस मुश्किल घड़ी में परिवार के साथ एकजुटता से खड़े हैं.” उन्होंने कहा कि पहलगाम में पर्यटकों पर किया गया जघन्य हमला भी आतंकियों की हताशा को प्रर्दिशत करता है. उपराज्यपाल ने कहा, ”मैंने प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को घायल दंपती को हर संभव उपचार मुहैया करने का निर्देश दिया है. उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं.”

उन्होंने कहा, ”सरकार ने आतंकवादियों और उसके सहयोगियों को कुचलने के लिए जम्मू कश्मीर पुलिस तथा सुरक्षा बलों को खुली छूट दी है. हमारे सुरक्षा बल उन तत्वों को ढूंढ निकालेंगे जो आतंकियों की मदद कर रहे हैं और जम्मू कश्मीर की विकास यात्रा को बाधित करने की कोशिश कर रहे हैं.”