नयी दिल्ली. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण का मतदान आरंभ होने के बाद सोमवार को कहा कि जनता विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (‘इंडिया’) के साथ मिलकर खुद यह चुनाव लड़ रही है और देश भर में बदलाव की आंधी चल रही है. लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में आज 49 सीट पर मतदान हो रहा है. इसमें रायबरेली लोकसभा क्षेत्र भी शामिल है जहां से राहुल गांधी खुद कांग्रेस के उम्मीदवार हैं.

राहुल गांधी ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, “आज लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण का मतदान है. पहले चार चरणों में ही यह साफ हो गया है कि जनता संविधान और लोकतंत्र की रक्षा के लिए खड़ी हो गई है और भाजपा को हरा रही है.” उन्होंने यह भी कहा कि नफ.रत की राजनीति से ऊब चुका यह देश अब अपने मुद्दों पर वोट कर रहा है.

राहुल गांधी ने कहा, “युवा नौकरी के लिए, किसान एमएसपी और कज.र् से मुक्ति के लिए, महिलाएं आर्थिक निर्भरता और सुरक्षा के लिए तथा मज.दूर वाजिब मेहनताने के लिए… .” उन्होंने कहा कि जनता विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (‘इंडिया’) के साथ मिलकर खुद यह चुनाव लड़ रही है और देश भर में बदलाव की आंधी चल रही है. उन्होंने कहा, “मैं अमेठी और रायबरेली समेत पूरे देश से अपील कर रहा हूं – अपने परिवारों की समृद्धि के लिए, खुद के अधिकारों के लिए, भारत की प्रगति के लिए बड़ी संख्या में बाहर निकलिए और वोट कीजिए.” कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने भी लोगों से लोकतंत्र के लिए भारी संख्या में मतदान की अपील की.

उन्होंने रायबरेली और अमेठी के मतदाताओं का भी आह्वान किया कि वे लोकतंत्र, संविधान और विकास की सकारात्मक राजनीति के साथ खड़े होने का संदेश दें. प्रियंका गांधी ने कहा, “रायबरेली और अमेठी के मेरे प्रिय परिवारजनों ! ‘सेवा के सौ साल’ का सुनहरा इतिहास कहता है कि आप हमेशा लोकतंत्र और संविधान के लिए खड़े रहे. आपने हमेशा सेवा, समर्पण, संघर्ष और शहादत की पवित्र भावना का साथ दिया.” उन्होंने कहा, “आपकी जागरूकता पर हमें गर्व है. आप जन गण मन की वह शक्ति हो जिसके सामने झूठ का बड़े से बड़ा मायाजाल नाकाम हो जाता है. आप भटकावे की राजनीति को आईना दिखाते हुए ?उंगलियों पर गिना देते हैं कि किसने कितना काम किया और किसने सिर्फ बरगलाने की राजनीति की. ” कांग्रेस महासचिव ने कहा, “आज अपनी इस जागरूकता को जनादेश में बदलने का समय है. भारी से भारी संख्या में मतदान करें और पूरे देश को यह संदेश भेजें कि आप लोकतंत्र, संविधान और विकास की सकारात्मक राजनीति के साथ हैं.”