हिसार/करनाल. केंद्रीय गृहमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को कहा कि चार जून के बाद राहुल गांधी को ‘कांग्रेस ढूंढों यात्रा’ निकालनी होगी क्योंकि इस सबसे पुरानी पार्टी को इस लोकसभा चुनाव में 40 सीट भी नहीं मिलेगी.
हरियाणा के करनाल में एक रैली को संबोधित करने के बाद शाह ने हिसार में एक जनसभा में विभिन्न मोर्चों को लेकर कांग्रेस पर अपना प्रहार जारी रखा . हिसार में उन्होंने भाजपा के लोकसभा प्रत्याशी रणजीत सिंह चौटाला के पक्ष में चुनाव प्रचार किया.

उन्होंने सभा में लोगों से सवाल किया कि क्या वे आम चुनाव के चार चरणों के बाद परिणाम जानना चाहते हैं और फिर उन्होंने जवाब दिया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा पहले ही 270 से अधिक सीट जीतकर बहुमत हासिल कर चुकी है. शाह ने कहा कि बाकी तीन चरणों के बाद भाजपा का सीट संख्या 400 के पार कर जाएगी.

उन्होंने दावा किया, ” शहजादों, दामादों-वाली कांग्रेस 40 सीट भी नहीं प्राप्त करेगी.” उन्होंने कहा ,” कांग्रेस के शहजादे राहुल बाबा ने भारत जोड़ो यात्रा निकाली थी. (अब) चार जून के बाद राहुल बाबा को कांग्रेस ढूंढों यात्रा निकालनी होगी. कांग्रेस दूरबीन से भी नजर नहीं आयेगी.” लोकसभा चुनाव के परिणाम चार जून को घोषित किये जाएंगे. शाह ने कहा कि मोदी के ‘विकास का कमल’ हरियाणा में सर्वत्र खिल रहा है.

उन्होंन कहा कि मतदाताओं के लिए एकतरफ कांग्रेस है जिसके शासन में 12 लाख करोड़ रुपये के घोटाले हुए थे तथा दूसरी तरफ मोदी हैं, जिन्होंने सालों तक गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में भी सेवा की लेकिन कोई ‘उनपर 25पैसे का भी” भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा पाया. उन्होंने कहा कि एक तरफ ”राहुल बाबा” हैं जो ‘चांदी के चम्मच’ के साथ पैदा हुए और दूसरी तरफ प्रधानमंत्री मोदी हैं जिनका जन्म एक गरीब परिवार में हुआ.

शाह ने कहा कि जब भारत में तापमान बढ. जाता है तो गांधी ”थाईलैंड और बैंकाक” चले जाते हैं . उन्होंने कहा, ” मेरे शब्दों को याद रख लीजिए, (चुनाव) परिणाम चार जून को घोषित किये जाएंगे और राहुल बाबा छह जून को छुट्टी मनाने निकल जायेंगे.” उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ मोदी ने दो दशक से अधिक समय तक एक भी दिन बिना छुट्टी लिये काम किया है और इसमें उनका गुजरात के मुख्यमंत्री का कार्यकाल भी शामिल है.

पूर्व भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ” आपको इन दोनों के बीच निर्णय लेना है.” केंद्र की पिछली कांग्रेस नीत संप्रग सरकार पर हमला जारी रखते हुए उन्होंने कहा, ”हर रोज पाकिस्तान से आलिया, मालिया और जमालिया भारत में घुस आते थे, बम धमाके करते थे और (तत्कालीन प्रधानमंत्री) मनमोहन सिंह एक भी शब्द नहीं बोला करते थे.” उन्होंने कहा कि लेकिन केंद्र में मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद उसने उरी और पुलवामा आतंकवादी हमलों के जवाब में र्सिजकल और हवाई हमले किये तथा पाकिस्तान में आतंकवादियों का सफाया किया.

कांग्रेस ने तुष्टीकरण की राजनीति के चलते अनुच्छेद 370 नहीं हटाया: अमित शाह
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि पार्टी ने तुष्टीकरण की राजनीति के चलते जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को रद्द नहीं किया. यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए शाह ने दोहराया कि पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर (पीओके) भारत का है और “हम इसे वापस लेंगे”.

वरिष्ठ भाजपा नेता ने राम मंदिर मुद्दे पर भी सबसे पुरानी पार्टी (कांग्रेस) पर हमला किया और कहा कि मल्लिकार्जुन खरगे, राहुल गांधी और सोनिया गांधी जैसे शीर्ष कांग्रेस नेताओं ने अपने अल्पसंख्यक वोट बैंक को खुश करने के लिए मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में हिस्सा नहीं लिया. कश्मीर को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, “तुष्टिकरण की राजनीति के लिए उन्होंने अनुच्छेद 370 को रद्द नहीं किया.” उन्होंने कहा कि क्षेत्र में आतंकवाद बढ.ने के बावजूद कांग्रेस ने अनुच्छेद 370 को रद्द नहीं किया.