कोबे. भारत की दीप्ति जीवनजी ने विश्व पैरा एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में महिलाओं की 400 मीटर टी20 रेस में 55 . 07 सेकेंड के विश्व रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता . पैरा एशियाई खेलों की स्वर्ण पदक विजेता दीप्ति ने अमेरिका की ब्रियाना क्लार्क का 55 . 12 सेकेंड का विश्व रिकॉर्ड तोड़ा जो उसने पिछले साल पेरिस में बनाया था. तुर्की की एसिल ओंडेर 55 . 19 सेकेंड के साथ दूसरे स्थान पर रही जबकि एक्वाडोर की लिजांशेला एंगुलो 56 . 68 सेकेंड का समय निकालकर तीसरे स्थान पर रही.

दीप्ति ने रविवार को एशियाई रिकॉर्ड समय 56 . 18 सेकंड के साथ अपनी हीट रेस जीती थी. टी20 वर्ग की रेस बौद्धिक रूप से अक्षम खिलाड़ियों के लिये है . दीप्ति ने पिछले साल हांगझोउ पैरा एशियाई खेलों की 400 मीटर टी20 स्पर्धा में 56.69 सेकेंड के समय के साथ स्वर्ण पदक जीता था जो तत्कालीन एशियाई रिकॉर्ड था. दीप्ति जूनियर और सीनियर चैम्पियनशिप में सक्षम शरीर वाले खिलाड़ियों के साथ भी चुनौती पेश कर चुकी हैं. सक्षम शरीर वाले खिलाड़ियों के साथ प्रतिस्पर्धा करते हुए उन्होंने जूनियर स्तर पर कई पदक जीते हैं.

उन्होंने सीनियर स्तर पर सक्षम खिलाड़ियों के साथ पिछली बार चेन्नई में 2022 राष्ट्रीय अंतर राज्यीय प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था जहां उन्होंने 100 मीटर और 200 मीटर रेस में प्रतिस्पर्धा पेश की थी. योगेश कथुनिया ने पुरूषों के एफ 56 वर्ग चक्का फेंक में 41 . 80 मीटर के साथ रजत पदक जीता . भाग्यश्री महाराव ने भी महिला गोला फेंक एफ34 वर्ग में 7.56 मीटर के प्रयास के साथ रजत पदक जीता. भारत ने अब तक एक स्वर्ण, दो रजत और दो कांस्य पदक जीत लिये हैं. रविवार को निशाद कुमार (टी47 ऊंची कूद) और प्रीति पाल (टी35 200 मीटर) ने क्रमश: रजत और कांस्य पदक जीता था.